विश्व व्यापार संगठन की 11 वीं बैठक विफलता की कगार पर

वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाईजेशन

अमेरिका के खाद्य सुरक्षा के मुद्दे पर कठोर रुख अपनाने के कारण विश्व व्यापार संगठन की 11 वीं बैठक में विफलता की कगार पर पहुंच गया है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सहायक अमेरिका ट्रेड प्रतिनिधि शेरॉन बी. लॉरीसेन ने एक छोटे समूह कि मीटिंग में कहा कि खाद्य भंडारण के मुद्दे पर स्थायी समाधान संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा स्वीकार नहीं है.

इस पर एक अधिकारी का कहना है,अमेरिका का बातचीत में शामिल होने से इनकार करने से बातचीत विफल हो सकती है. भारत इस कोशिश में लगा है कि मीटिंग में खाद्य भंडारण के मुद्दे का एक स्थायी समाधान निकल सके.इससे पहले केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने अमेरिका से ध्यान हटाते हुए कहा कि भारत को विश्व व्यापार संगठन में विशेष छूट पाने का हकदार है.

प्रभु के मुताबिक भारत कि विकास दर बहुत अधिक होने के बावजूद 60 मिलियन जनसंख्या गरीबी रेखा से नीचे है और बहुत मुश्किल से भरण-पोषण करती है,मौजूदा विश्व व्यापार नियमों के तहत,किसी सदस्य देश के लिए भोजन सब्सिडी ,बिल के कुल मूल्य के 10 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए.