2001 संसद हमला: PM मोदी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी संसद भवन हमले में शहीदों को श्रधांजलि देने जाते हुए

नई दिल्‍ली, संसद पर हुए आतंकवादी हमले की आज 16वीं बरसी है. आज से 16 साल पहले यानी कि 13 दिसंबर 2001 को जैश-ए-मोहम्मद के पांच आतंकियों ने संसद पर हमला किया था. संसद के परिसर के अंदर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने बड़ी ही बहादुरी से इस हमले मुकाबला किया था और सभी आतंकियों को मार गिराया था.

आज सुबह 11 बजे इस हमले में शहीद हुए लोगों को संसद के परिसर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई वरिष्ठ सांसदों ने श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी भी मौजूद रहीं. आपको बता दें कि लोकतंत्र पर हुए इस सबसे बड़े हमले में दिल्ली पुलिस के पांच जवान, सीआरपीएफ की एक महिला कांस्टेबल और संसद के दो गार्ड शहीद हुए थे.

इस हमले के मुख्य आरोपी अफजल गुरु को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था, जिसे बाद में कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी. मोहम्मद अफज़ल गुरु को 9 फ़रवरी 2013 को सुबह दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया. 13 दिसंबर 2001 को जैश-ए-मोहम्मद के पांच आतंकवादियों ने लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर संसद पर हमला किया था. ये पांचों आतंकी एक सफेद एंबेसडर कार में आए थे.

देश की संसद में विपक्ष के हंगामे के बीच शीतकालीन सत्र चल रहा था. उस दौरान सैकड़ों सांसदों समेत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और विपक्ष की नेता सोनिया गांधी भी संसद में मौजूद थीं. आतंकियों की इस फायरिंग से कई जवान शहीद हो गए. हालांकि सुरक्षाबलों ने उसी दिन पांचों आतंकियों को मार गिराया था.