ये है दुनिया का सबसे छोटा देश, जनसंख्या जानकर होगी हैरानी

क्या आपको पता है दुनिया में एक ऐसा भी देश है जहां रहते है सिर्फ 27 लोग. जबकि अभी तक दुनिया के सबसे छोटे देश के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ‘वेटिकन सिटी’ को ही वैधानिक दर्जा प्राप्त है, लेकिन इस देश को टक्कर देने के लिए धरती पर एक ऐसा देश भी है जो दुनिया के सबसे छोटे देश के रूप में जाना जाता है. हालांकि इसे वैधानिक दर्जा प्राप्त नहीं है फिर भी इंटरनेट पर आपको इस देश के संबंध में कई मीडिया रिपोर्ट पढ़ने को मिल जाएंगी.

दुनिया का सबसे छोटा देश जिसकी कुल जनसंख्या सिर्फ 27 है. और इस देश का नाम सीलैंड है. ये देश इंग्लैंड के पास स्थित है, इस को दूसरी वल्र्ड वार के दौरान ब्रिटेन ने बनाया था. दुनिया का सबसे छोटा कहे जाने वाला देश सीलैंड नाम के इस देश में जनसंख्या मात्र सिर्फ 27 लोग की है. बस तभी से यह दुनिया का सबसे छोटा देश कहा जाने लगा.

यह इंग्लैंड के सफोल्क समुद्री तट से लगभग 10 किमी. दूर स्थित है. हालांकि अब सीलैंड खंडहर बन चुका है. इसे एक समुद्री किले पर बनाया गया है. अब यह खाली पड़ा है. माइक्रो नेशन कहे जाने वाले सीलैंड पर अलग-अलग लोगों का कब्जा रहा. रॉय बेट्स नामक शख्स ने 9 अक्टूबर 2012 को खुद को सीलैंड का राजा घोषित कर दिया. लेकिन रॉय बेट्स की मृत्यु हो चुकी है.

इस सीलैंड को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता न मिलने के बावजूद यहां की अपनी मुद्रा और स्टेम्प टिकट है. सीलैंड का क्षेत्रफल काफी कम है, ऐसे में इसके पास आजीविका का कोई साधन नहीं है. कहते हैं कि जब इंटरनेट के जरिए लोगों को इस देश के बारे में मालूम पड़ा तो लोग यहां रहने वाले लोगों की मदद के लिए आगे आए थे. उन्होंने खूब डोनेशन दिया. इससे यहां रहने वाले लोगों को आर्थिक मदद मिली.

अभी तक दुनिया का सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी है, जिसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है जिसका क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर है. यहां की जनसंख्या 800 है.