IND Vs SL : भारत-श्रीलंका के बीच पहला वनडे धर्मशाला में आज, रोहित पहली बार करेंगे कप्तानी

टीम इंडिया -फाइल फोटो

भारत और श्रीलंका के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला रविवार को धर्मशाला में खेला जाएगा. तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीतने के बाद भारत वनडे सीरीज में बढ़त बनाने के इरादे से मैदान में उतरेगा. वनडे और टी-20 सीरीज में भारतीय टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली को आराम दिया गया है.

कोहली की जगह इस सीरीज में ‘हिटमैन’ के नाम से मशहूर रोहित शर्मा कप्तानी करेंगे. यह पहला मौका होगा, जब रोहित शर्मा भारतीय टीम की कप्तानी करेंगे. वहीं, श्रीलंका ने उपुल थंरगा के स्थान पर थिसारा परेरा को अपनी टीम की कमान सौंपी है. ऐसे में दोनों नए कप्तानों के कंधों पर टीम को जीत दिलाने की बड़ी जिम्मेदारी है.

भारत के पास इस सरीज में श्रीलंका के खिलाफ लगातार जीत दर्ज कर वनडे में नंबर वन बनने का मौका भी है. इसलिए इस सीरीज में भारतीय टीम जीत का कोई भी मौका हाथ से नहीं जाने देगी. वहीं श्रीलंकाई टीम कुछ समय से लगातार वनडे सीरीज में हार रही है. पिछली सीरीज में भारत ने श्रीलंका को 5-0 से हराया था.

रोहित पहली बार राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करेंगे. वह हालांकि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मुंबई इंडियंस के कप्तान हैं और उनके रहते टीम ने तीन बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया है. कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम लगातार अच्छा प्रदर्शन करती रही है. उसने हाल ही में श्रीलंका को उसके घर में और फिर ऑस्ट्रेलिया को अपने घर में वनडे सीरीज में मात दी थी.

रोहित के सामने उसी विजयी क्रम को जारी रखने की बड़ी चुनौती है. श्रीलंका की टीम को देखते हुए उनके लिए यह आसान लगता है, क्योंकि श्रीलंका टीम ने पिछली तीन सीरीज में हार झेली है. जिम्बाब्वे जैसी टीम ने उसे उसके घर में 3-2 से हराया था. फिर भारत से वह अपने घर में ही 0-5 से हारी थी. इसके बाद पाकिस्तान ने उसे अपने दूसरे घर संयुक्त अरब अमिरात में 5-0 से मात दी थी.

इस लिहाज से रोहित की कप्तान के तौर पर विजयी शुरुआत का रास्ता आसान लगता है, लेकिन क्रिकेट अनिश्चिताओं का खेल है. इस बात से सभी वाकिफ हैं. रोहित के सिर कप्तानी के साथ-साथ बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन करने का भी दबाव होगा. कोहली की गैरमौजूदगी में टीम की बल्लेबाजी कुछ हद तक तो कमजोर होगी. ऐसे में रोहित के अलावा उनके सलामी जोड़ीदार शिखर धवन, महेंद्र सिंह धौनी और अंजिक्य रहाणे पर टीम को संभालने की जिम्मेदारी होगी.

रहाणे टेस्ट में अच्छी फॉर्म में नहीं थे. उनके लिए और टीम के लिए यह जरूरी है कि रहाणे अपने बल्ले की जंग को दूर करें. कोहली की गैरमौजूदगी मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर के लिए बड़ा मौका साबित हो सकती है. वहीं, रोहित मध्यक्रम को मजबूती देने के लिए अनुभवी बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को भी मौका दे सकते हैं.

वहीं, गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार के हाथ में टीम की कमान होगी. धर्मशाला की पिच तेज गेंदबाजों की मददगार साबित हो सकती है. इस विकेट पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था और तब इस विकेट के व्यवहार की सभी ने तारीफ की थी. ऐसे में रोहित नए तेज गेंदबाज सिद्धार्थ कौल को टीम में मौका दे सकते हैं.

हालांकि इसकी संभावना कम है क्योंकि उनके पास हार्दिक पांड्या के रूप में एक हरफनमौला खिलाड़ी पहले से ही मौजूद है. स्पिन विभाग का जिम्मा कुलदीप यादव और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल के जिम्मे होगा. कुलदीप ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच से इसी मैदान पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था.

वहीं श्रीलंका की बात की जाए तो उसकी बल्लेबाजी थरंगा, पूर्व कप्तान एंजेलो मैथ्यूज, तीसरे टेस्ट में मैच बचाने वाली पारी खेलने वाले धनंजय डी सिल्वा और दिमुथ करुणारत्ने पर निर्भर करेगी. गेंदबाजी में टेस्ट में सुरंगा लकमल ने काफी प्रभावित किया था. वह अगर अपने उसी फॉर्म को जारी रखते हैं तो भारत के लिए थोड़ी परेशानी हो सकती है. चाइनमैन लक्षण संदाकान और ऑफ स्पिनर दिलरुवान परेरा पर भी श्रीलंका काफी हद तक निर्भर करेगी.

मैच धर्मशाला के खूबसूरत मैदान में दोपहर 11.30 से खेला जाएगा.