डॉ. कफील की मां ने सीएम योगी से की यह फरियाद

गोरखपुर, डॉ. कफील की मां ने मुख्‍यमंत्री से कहा कि उनका बेटा बेगुनाह है. गलती किसी और ने की. सजा उनके बेटे को भुगतनी पड़ रही है. मुख्‍यमंत्री ने अधिकारियों को फरियादियों की समस्याओं का जल्द से जल्द निस्तारण करने का आदेश दिया.

सुबह मंदिर में विधि-विधान से की पूजा
इससे पहले मुख्यमंत्री की सुबह की दिनचर्या परंपरागत रही. आवास से निकलने के बाद वह सबसे पहले गुरु गोरखनाथ के मंदिर में गए और वहां उनकी पूरे विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की.

गुरु अवेद्यनाथ की समाधि पर जाकर उनका आशीर्वाद लेने के बाद उन्होंने करीब आधा घंटा गौशाला में गुजारा और फिर फरियादियों के बीच पहुंच गए. करीब 2 घंटा समस्याओं को सुनने का सिलसिला चला.

शिक्षा परिषद के समारोह में विजेताओं को किया पुरस्‍कृत
गोरखनाथ मंदिर परिसर में अगला आयोजन महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह समारोह का समापन कार्यक्रम का रहा. कार्यक्रम के लिए ब्रम्हलीन महंत दिग्विजय नाथ स्मृति सभागार में 9:30 बजे पहुंचे सीएम योगी आदित्‍यनाथ और मुख्‍य अतिथि केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्‍यमंत्री डॉ.सत्‍यपाल सिंह ने संस्‍थापना सप्‍ताह समारोह के तहत हुई प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों को प्रोत्‍साहित किया. कुल 650 विजेताओं को पुरस्‍कृत किया जाना है.

बता दें कि इसी साल अगस्त में गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से कुछ ही घंटों में बड़ी संख्या में बच्चों की मौत हो गई थी. जिसके बाद अस्पताल प्रशासन की लापरवाही सामने आई थी. इस घटना के बाद अस्पताल प्रशासन के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. इनमें डॉक्टर कफील भी शामिल थे. साथ ही कफील पर निजी प्रैक्टिस का भी आरोप लगा था.