तीन शिक्षिकाओं ने बच्ची के सााथ कर डाली ये गंदी हरकत…

इंदौर में प्ले स्कूल में पढ़ने वाली साढ़े चार साल की बच्ची से यौन शोषण के मामले में तीन शिक्षिकाओं को हिरासत में लिया गया. बच्ची के परिजनों की शिकायत पर तीन शिक्षिकाओं को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू हो गई है. हालांकि तीनों के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं. बता दें कि मल्हारगंज इलाके में रहने वाली बच्ची जंगमपुरा के यूरो किड्स इंटरनेशनल प्ले स्कूल में LKG में पढ़ती है.

उसकी मां और मामा बच्ची को लेकर मल्हारगंज थाने पहुंचे. साथ में वकील भी थे. उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूल की शिक्षिका समीक्षा तोषनीवाल, यामिनी बारगल और रश्मि खंडेलवाल ने बच्ची से अश्लील हरकत की है. परिजनों की शिकायत पर टीआई पवन सिंघल, सीएसपी वंदना चौहान और एक महिला आरक्षक ने पड़ताल शुरू की. बच्ची ने बयान दिए कि कई दिन से शिक्षिकाएं उससे गंदी हरकत कर रही थीं. पुलिस ने बच्ची का मेडिकल कराया है.

बच्ची मूलत: अमरावती की रहने वाली है. पिता ट्रांसपोर्टर हैं. मां गर्भवती है और तीन महीने से मायके में रह रही है. तीन महीने पहले ही बच्ची का प्ले स्कूल में दाखिल करवाया था. बच्ची के मामा का कहना है कि दस दिन से बच्ची दर्द की शिकायत कर रही थी.

गुरुवार रात उसने कहा कि स्कूल की तीन मैडम उससे गंदी हरकतें करती हैं. हमने उसे वाट्सएप पर स्कूल टीचर के फोटो दिखाए तो उसने तीन महिला शिक्षिकाओं की ओर इशारा किया. मल्हारगंज पुलिस और बच्ची के परिजन शिकायत के बाद प्ले स्कूल पहुंचे.

बच्ची ने मां को उसकी क्लास में ले जाकर बताया कि टेबल के नीचे बैठाकर दो मैडम उसके साथ गंदी हरकत करती थीं और एक मैडम मोबाइल पर वीडियो बनाती थी. तीनों शिक्षिका स्कूल के रिसेप्शन पर थीं. पुलिस ने उनके मोबाइल जांचे, लेकिन ऐसा कोई वीडियो नहीं मिला. जब बच्ची ने तीनों टीचर की ओर उंगुली उठाई तो बच्ची की मां उनसे भिड़ गई. यहां तक की हाथापाई भी हुई.

जिसके बाद पुलिस तीनों शिक्षिकाओं को हिरासत में लेकर थाने पहुंची.इस मामले में जीरो  केस दर्ज किया गया है. जांच के दौरान सीएसपी ने बताया कि बच्ची मल्हारगंज में रहती है, लेकिन स्कूल छत्रीपुरा थाना क्षेत्र में आता है इसलिए जीरो पर केस दर्ज कर केस डायरी छत्रीपुरा पुलिस को सौंपी जाएगी. आगे की जांच छत्रीपुरा पुलिस करेगी. शिक्षिकाओं को भी छत्रीपुरा पुलिस के हवाले कर दिया है. वहीं शिक्षिकाओं का कहना है कि आरोप झूठा है.

बच्ची के साथ हमने कोई दु‌र्व्यवहार नहीं किया है. उधर, एसएसपी धनंजय शाह का कहना है कि पास्को एक्ट के चलते यह केस संवेदनशील है. पास्को एक्ट के तहत केस दर्ज कर हर बिंदु पर जांच की जा रही है. तीनों शिक्षिकाओं की बच्ची ने पहचान की है. फिलहाल पुलिस मामले की संवेनशीलता को देखते हुए तेजी से जांच में जुटी है.