रुद्रपुर : चिकित्सक की हत्या के पीछे छिपा है बड़ा राज

रुद्रपुर के ट्रांजिट कैंप में क्लीनिक चलाने वाले बंगाल के एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. परन्तु उसके भाई ने कहा है कि मेरे भाई ने आत्महत्या नहीं की उसकी हत्या की गई है. युवक के भाई ने पुलिस से हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस से कार्रवाई की मांग की है.

बताया जा रहा है मूल रूप से पश्चिम बंगाल का रहने वाला अभिजीत मंडल (35) पुत्र जोगेंद्र मंडल ट्रांजिट कैंप क्षेत्र में क्लीनिक चलाता था. और वह वही निकट ही किराए के मकान में रह रहा था. यह भी बताया जा रहा है कि अभिजीत का उसके कमरे के सामने रहने वाली एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था.

दरअसल आज सुबह जब अभिजीत के कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो उसके पड़ोस के व्यक्ति ने उसे आवाज दी. लेकिन जब पडोसी को भीतर से कोई जवाब नहीं आया तो उसने निकट ही रहने वाले अभिजीत के भाई को इसकी सूचना दी. सुचना पर जब युवक का भाई पंहुचा तो उसने कमरे का दरवाजा तोड़ अंदर प्रवेश किया.

भीतर जाते ही वह मंजर देख आँखों पर यकीन नहीं कर पाया उसके कदमो तले जमीन खिसक गई भाई को फांसी लगा देख भाई के ऊपर जैसे को पहाड़ टूट गया हो. आनन फानन में उसे अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया.

अभिजीत के आत्महत्या करने की बात को उसके भाई ने सिरे से नाकारा है उसका कहना है की उसका एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिस कारण युवती के माँ बाप ने ही उसके भाई की हत्या की है.

पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई को कहा. पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए कहा है की मृतक के भाई का कहना है की उसकी हत्या की गई हम इस संबंध में पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कह सकते है तथा आगे की कार्यवाही उसी के अनुसार की जायगी.