अवैध शराब के गिरोह का भंडाफोड़ करना महिला को पड़ा भारी, हुई पिटाई

नई दिल्ली, बाहरी दिल्ली के नरेला में अवैध शराब के गिरोह का भंडाफोड़ करने वाली महिला की इलाके की ही अन्य औरतों ने कथित रूप से पिटाई की,कपड़े तक फाड़ डाले और विडियो बनाया. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी से स्थानीय पुलिस के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. इधर, पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आईपीसी की धारा 323, 342, 354बी, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया है और चार महिलाओं को गिरफ्तार किया है.

घटना को ‘हैरान करने वाला और शर्मनाक’ करार देते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से मामले में दखल देने और उन स्थानीय पुलिसर्किमयों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया जिन्होंने गिरोह चलाने वालों से कथित रूप से सांठगाठ की है. पुलिस ने घटना में शामिल महिलाओं के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आरोप लगाया कि नरेला में निरीक्षण के दौरान आयोग को अवैध रूप से शराब बेचे जाने की जानकारी दी थी.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति ने कहा कि घटना क्षेत्र में पूरी अराजकता और कानून के प्रति कोई डर नहीं होने को साबित करती है और यह हैरान करने वाला है कि पुलिस ने महिला की रक्षा के लिए कोई कार्रवाई नहीं की. स्वाति ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो साझा की है जिसमें पीड़िता आरोप लगा रही है कि शराब माफिया के खिलाफ आवाज नहीं उठाने के लिए उसे धमकी दी गई है.

पीड़िता ने वीडियो में सिसकियां भरते हुए कहा, ‘‘मुझे खींचा गया और कपड़े फाड़ दिए गए. एक पुलिस कर्मी ने उन्हें ऐसा अमानवीय व्यवहार करने से रोकने की कोशिश की लेकिन उसे भी पीटा गया. उन्होंने यह भी कहा कि वे ऐसा ही स्वाति और अन्य महिलाओं के साथ करेंगे जो उनके कृत्य का विरोध करेंगे.’’ स्वाति ने रोहिणी जिले के उपायुक्त को समन भेजकर महिला आयोग के समक्ष पेश होने, कार्रवाई रिपोर्ट जमा करने और महिला पर हमले को लेकर दर्ज की गई प्राथमिकी का विवरण लाने को कहा.