भाजपा के इस नेता ने जामा मस्जिद को बताया विवादित ढांचा

नई दिल्ली, भाजपा सांसद विनय कटियार ने राम मंदिर के मुद्दे पर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए दिल्ली की जामा मस्जिद को भी विवादित ढांचा बता दिया.विनय कटियार ने कहा कि दिल्ली की जामा मस्जिद कभी जमुना देवी मंदिर हुआ करती थी. मुगलों ने इसे मस्जिद का रूप दिया.उन्होंने कहा कि मुगल शासकों द्वारा 6000 जगहों को तोड़ा गया था. दिल्ली का जामा मस्जिद वास्तव में जानकी देवी मंदिर था, वैसे ही ताजमहल तेजो महालय था.

इससे पहले कटियार ने कांग्रेस पर राम मंदिर के मुद्दे पर हमला बोलते हुआ कहा कि कांग्रेसी नेता शाहजहां और औरंगजेब की औलाद हैं.कांग्रेसी बाबर और औरंगजेब की औलादें विनय कटियार ने कहा कि राम मंदिर वहीं बनेगा जहां रामलला विद्यमान है.सालों से लोग रामलला की पूजा करने अयोध्या आते हैं.लोगों की श्रद्धा पर सवाल नहीं उठाने चाहिए.सुप्रीम कोर्ट पर इस पर सुनावाई चल रही है.इस मुद्दे पर लगातार सुनवाई कर फैसला करना चाहिए।

कांग्रेस की चाल

कटियार ने कहा कि कपिल सिब्बल ने सुनवाई टालने की जो बात कही हो वो कांग्रेस की चाल दिखाती है. कांग्रेस हमेशा से राम मंदिर के मुद्दे को टालती रही है. कांग्रेसी नेता बाबर और औरंगजेब की औलादें हैं. जामा मस्जिद, जमुना देवी का मंदिर था विनय कटियार ने कहा कि बाबर और औरंगजेब आक्रांता थे. औरंगजेब ने ही मथुरा और काशी में मंदिरों को तोड़ा था.

यहां तक दिल्ली की जामा मस्जिद भी पहले जमुना देवी का मंदिर था. अगर अयोध्या की बात की जाए तो पुरात्व विभाग से लेकर हाईकोर्ट तक ने यह तथ्य स्वीकार किया है वो जमीन रामलला की है. इस जमीन पर कांग्रेस मंदिर नहीं बनने देना चाहती है.वो मस्जिद का समर्थन करती है।

बिना रस्मों के जनेऊ सिर्फ एक धागा है
जनेऊ के लिए मां से मांगनी पड़ती है भीख उनके नेता कपिल सिब्बल सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से चुनाव लड़ते हैं. इसलिए वे राम मंदिर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनावई टालना चाहते हैं. आज राहुल गांधी बोल रहे हैं कि वो जनेऊधारी ब्राह्मण हैं.

लेकिन यह एक नाटक है. जनेऊ हिंदुओं का एक पवित्र संस्कार होता है. उसके लिए मां से भीख मांगन होती है. बिना रस्मों के जनेऊ सिर्फ एक धागा है।