खूनी फ्लाईओवर : हरकत में आया प्रशासन, उठाया ये बड़ा कदम

देहरादून, अस्थायी राजधानी में बने बल्लीवाला फ्लाईओवर को बने हुए डेढ़ साल हो गए. इस दौरान एक दर्जन लोगों को मौत की नींद सुला चुके बल्लीवाला फ्लाईओवर को लेकर अब विभाग भी हरकत में आ गया है. लगातार हो रहे हादसों को देखते हुए मंगलवार को लोक निर्माण विभाग की टीम ने फ्लाईओवर पर दो घंटे ट्रैफिक रोककर सेफ्टी ऑडिट किया. सेफ्टी ऑडिट के लिए कनाडा से भी विशेषज्ञ बुलाए गए थे.

बल्लीवाला फ्लाईओवर के डिजाइन पर पहले से ही सवाल उठ रहे थे. बीते साल अगस्त में फ्लाईओवर पर यातायात शुरू होने के बाद यहां सड़क दुर्घटना में एक दर्जन मौतें हो चुकी हैं. बीते सप्ताह यहां एक और युवक की मौत के बाद लोनिवि मुख्यालय से फ्लाईओवर का तकनीकी परीक्षण कराने के आदेश हुए थे.

इसके चलते मंगलवार को फ्लाईओवर में हादसों के कारणों को लेकर सेफ्टी ऑडिट किया गया. विशेषज्ञ टीम दोपहर तीन बजे के बाद सेफ्टी ऑडिट करने में जुट गई. फ्लाईओवर के डिजाइन, तकनीकी के पहलुओं को गंभीरता से देखा गया.
राष्ट्रीय राजमार्ग में डोईवाला विकासखंड के अधिशासी अभियंता एमएस रावत ने बताया कि बल्लीवाला फ्लाईओवर में हुए हादसों को लेकर सेफ्टी ऑडिट किया जा रहा है. सेफ्टी ऑडिट के बाद हादसों के कारणों की पूरी स्थिति साफ हो जाएगी. अगर कोई सुधार करना होगा तो वह किया जा सकेगा.