जीवित बच्चे को मृत बताने वाले डॉक्टरों को मैक्स अस्पताल ने निकाला

मैक्स हेल्थकेयर ने समय से पहले जन्मे एक बच्चे को गलती से मृत घोषित करने के मामले में कथित तौर पर लिप्त दो डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त करने का फैसला किया है.

यह निर्णय रविवार रात घटना के संबंध में मैक्स हेल्थकेयर के अधिकारियों की एक बैठक में किया गया.

एक बयान में मैक्स हेल्थकेयर ने कहा ‘विशेषज्ञ समूह द्वारा जांच जारी है, लेकिन हमने समय से पहले जुड़वां बच्चों के जन्म के मामले में दो डॉक्टरों ‘ए पी मेहता’ और ‘विशाल गुप्ता’ की सेवाएं समाप्त करने का फैसला किया है.’

बयान में कहा गया है ‘यह कड़ी कार्रवाई विशेषज्ञ समूह के साथ हमारी शुरुआती चर्चा के बाद की गई है.’ गौरतलब है कि बीते 30 नवंबर की सुबह मैक्स अस्पताल में एक महिला ने जुड़वां बच्चों (एक लड़का और एक लड़की) को जन्म दिया था. बच्ची मृत ही पैदा हुई थी.

अस्पताल ने बच्चे के माता-पिता को पहले बताया कि दोनों बच्चे मृत पैदा हुए हैं और उन्हें दोनों बच्चे एक पॉलि​थिन बैग में सौंप दिए गए. लेकिन उनके अंतिम-संस्कार से ठीक पहले परिवार ने पाया कि एक बच्चा जीवित है.