कोलगेट ने ओरल हेल्थ माह का 14वां एडिशन किया पेश

देहरादून, इंडियन डेंटल एसोसिएशन (आईडीए) की साझेदारी में ओरल केयर में मार्केट लीडर, कोलगेट-पॉमोलिव (इंडिया) लिमिटेड ने ओरल हेल्थ माह (ओएचएम) के 2017 के एडिशन की घोषणा की. ओएचएम इस समय अपने 14वें साल में है और एक राष्ट्र व्यापी अभियान के रूप में यह 33 मिलियन से अधिक भारतीयों को निशुल्क डेंटल चेक-अप व परामर्श प्रदान करके उन्हें लाभान्वित कर चुका है. ओएचएम 2017, नवंबर 2017 में प्रारंभ हुआ और यह 31 जनवरी, 2018 तक जारी रहेगा.

ओएचएम 2017 में एक नई अद्वितीय पेश कश, वॉईस-बेस्ड इंटरेक्टिव प्रोग्राम, पॉकेट डेंटिस्ट है, जिसके द्वारा लोगों को सभी ओएचएम पैक्स पर दिए गए नंबर पर मिस कॉल देकर फोन पर निशुल्क ओरल केयर टिप्स/गाईडेंस प्राप्त हो सकती है. कोलगेट ने यह प्रोग्राम प्रारंभ करने की जरूरत को समझते हुए इसे ओएचएम 2017 में समाविष्ट किया. यह एक डेंटल सर्वे के परिणामों पर आधारित है, जिसके अनुसार 90 प्रतिशत भारतीय डेंटिस्ट के पास नियमित तौर पर नहीं जाते हैं.

ओरल हेल्थ माह 2017 के बारे में बोलते हुए इसाम बचलानी, मैनेजिंग डायरेक्टर, कोलगेट-पॉमोलिव (इंडिया) लिमिटेड ने कहा, ‘‘ओरल हेल्थ माह हमारे सबसे पुराने ध्वज वाहक कार्यक्रमों में से एक है, जिसके द्वारा हमारा लक्ष्य लोगों के ओरल स्वास्थ्य में सुधार लाना है. योग्य डेंटिस्ट समूह के साथ कोलगेट ओरल हेल्थ माह ने लाखों भारतीयों को निशुल्क डेंटल चेक अप एवं डेंटल परामर्श प्रदान किया है.

2017 के एडिशन के लिए हमने ओएचएम कार्यक्रम को मजबूत बनाने के लिए पॉकेट डेंटिस्ट सेवा का प्रारंभ किया है. इससे हमारे ‘कीप इंडिया स्माईलिंग’ के व्यापक लक्ष्य को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी.’’ पिछले साल ओरल हेल्थ माह के अंतर्गत देश के 1100 शहरों में 34,000 आईडीए डेंटिस्टों की प्रतिभागिता द्वारा 6 मिलियन चेक-अप किए गए.

डॉ. अशोक ढोबले, माननीय महासचिव, इंडियनडेंटल एसोसिएशन ने कहा, ‘‘ओरल हेल्थ माहभारत के सबसे बड़े ओरल केयर अभियानों में से एक हैं, जिसमें देश की ओरल हेल्थ में सुधार लाने के लिए कोलगेट और आईडीए मिलकर प्रयास करते हैं. 2004 में इसकी शुरुआत से ओएचएम पहुंच व स्केल में काफी विस्तृत हो चुका है और आज तक 30 मिलियन लोग निशुल्क डेंटल चेक-अप करा चुके हैं. ओएचएम 2017 के तहत भारत के लगभग 35000 आईडीए डेंटिस्ट लोगों को निशुल्क डेंटल चेक-अप प्रदान करेंगे और इस प्रक्रिया में लोगों को ओरल केयर की अच्छी आदतों के बारे में शिक्षित करेंगे.’