मुजफ्फरनगर के प्रोपर्टी डीलर की फरीदाबाद में गोली मारकर हत्या

पटना के प्रॉपर्टी डीलर की फरीदाबाद बुलाकर हत्या कर दी गई. हत्यारों ने डीलर को गोली मार कर जंगल में फेंक कर फरार हो गए थे लेकिन उसकी सांसे चार घंटे तक चलती रही. वो फोन पर मदद की गुहार लगाता रहा लेकिन कोई उसकी मदद के लिए नहीं पहुंचा. गोली लगने के बाद डीलर ने पुलिस और पटना में अपने एक मित्र को फोन करके सारी घटना बताई और मदद भी मांगी लेकिन फरीदाबाद पुलिस की तरफ से कोई हेल्प नहीं मिली.

परिजनों का आरोप है कि फरीदाबाद पहुंचने पर परिजन 6 घंटे तक पुलिस को सम्पर्क कर जंगल की लोकेशन बताते रहे, लेकिन उनकी मदद करने की बजाय पाली पुलिस चौकी इंचार्ज सिर्फ उन्हें बरगलाता रहा.पटना निवासी प्रवीण प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता था. मृतक के परिजनों ने बताया कि अपने ही जिले में रहने वाले वरुण सिंह से उसने एक जमीन 1 करोड़ 36 लाख रुपए में खरीदी थी, जिसकी सारी पेमेंट वरुण ने ले भी ली.

मृतक के भाई श्रवण कुमार शर्मा की मानें तो पेमेंट लेने के बाद जब रजिस्ट्री का समय आया तो वरुण भाग गया, जिस पर परवीन ने वरुण के खिलाफ मामला भी दर्ज करवा दिया था. भाई ने बताया कि पुलिस में शिकायत देने की रंजिश में ही इस वारदात को अंजाम दिया गया. वरुण ने प्रवीण को उसके मोबाइल पर प्लेन टिकट भेजकर दिल्ली बुलाया और कोई दूसरी जगह या पैसे देने की बात कहा.

उसके बाद वरुण और उसके साथी अजय यादव ने फरीदाबाद में पाली-सूरजकुंड रोड़ जंगलों में जाकर गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. इस मामले में चौकी इंचार्ज रणधीर सिंह ने बताया कि पटना निवासी प्रवीण की हत्या की सूचना मिली थी. उन्होंने कहा कि प्रॉपर्टी विवाद में इस वारदात को अंजाम दिया गया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.