नीतीश का लालू पर तंज, बच्चों और परिजनों से गाली दिलवाना हैं साझी विरासत का उदाहरण

सोशल मीडिया पर इनदिनों आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है, एक ओर गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राहुल गांधी रोज एक सवाल दाग रहे हैं वहीं बिहार में लालू यादव, तेज प्रताप, तेजस्वी वर्सेस नीतीश कुमार में ट्वीट वार चल रहा है. बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद शुरू हुआ ट्वीट वार हर दिन बढ़ता जा रहा है.राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के साथ उनके दोनों बेटे भी इस ट्वीट वार के सेनापति बने हुए हैं. लालू प्रसाद सहित उनके दोनों बेटे तेज प्रताप और तेजस्वी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोल रहे हैं.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी ट्वीट करते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा है कि घोटालों को उजागर करना और घोटालेबाजों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करना ही घोटाला है.
नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद पर तंज कसते हुए आरोप लगाया है कि लालू प्रसाद अपने बटों और परिजनों से गाली गलौज करवाते हैं. जिसे सद्भावना और साझी विरासत का नाम दिया जाता है. हालांकि नीतीश ने कहीं भी ट्वीट में लालू का नाम नहीं लिया है. लेकिन उनका ट्वीट सीधे तौर पर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के लिए ही है.

बता दें कि पिछले कुछ दिनों बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, तेज प्रताप और लालू यादव हर दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर ट्वीट कर हमला बोल रहे हैं.लालू के छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि बिहार में दो और घोटाला उजागर हुआ है.डस्टबीन घोटाला और एलईडी बल्ब घोटाला. मुख्यमंत्री ने घोटालेबाजों को एक घोटाला करने पर तीन घोटाले करने की भारी छूट दी हुई है.

तेजस्वी ने एक और ट्वीट किया है कि ‘बिहार में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब होगी ही क्योंकि राज्य के मुख्यमंत्री पर ही मर्डर का संगीन आरोप है.’ दूसरी तरफ, लालू के ज्येष्ठ पुत्र तेज प्रताप यादव ने ट्वीट किया कि नितिश कुमार केवल एकमात्र नेता हैं जिन्होंने ट्रक के अनुसार सबसे ज्यादा नारा दिया और यहां तक ​​कि अधिक घोटाले किए, ट्रक के हिसाब से, अब करोड़ों का नया घोटाला आया ‘डस्टबिन घोटाला’.