तैयार हैं न आप? पिछले साल के मुकाबले ज्यादा सर्दी पड़ेगी इस साल

सांकेतिक फोटो

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने गुरुवार को कहा कि इस साल देश में पिछले साल के मुकाबले सर्दी अधिक रहेगी, लेकिन सामान्य से कम रहेगी. यह स्थिति विशेष रूप से उत्तर भारत में रहेगी.

मौसम विज्ञान विभाग ने पूर्वानुमान में कहा कि दिसंबर 2017 और फरवरी 2018 के दौरान तापमान आम तौर पर अधिकतम और न्यूनतम से ज्यादा रहेगा.

विभाग के महानिदेशक के जे रमेश ने कहा, ‘बहरहाल, देश के ज्यादातर हिस्सों में मौसम पिछले साल के मुकाबले ज्यादा सर्द रहेगा.’ राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, पूर्वी एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, विदर्भ, मराठवाड़ा, पश्चिम एवं पूर्वी मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर और मिजोरम में मौसम का औसतन अधिकतम तापमान एक डिग्री सेल्सियस अधिक गर्म रहेगा.

साल 2016-17 की सर्दियों में एक डिग्री सेल्सियस का अंतर देखा गया. यह 1901 के बाद चौथा सबसे गर्म सर्दियों का मौसम था.

मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि इस बात की संभावना 40 फीसदी के आसपास है कि सर्द हवाओं वाले क्षेत्र में न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक रहेगा.

सर्द हवाओं वाले क्षेत्र पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना, मराठवाड़ा, विदर्भ, सौराष्ट्र और मध्य महाराष्ट्र हैं.