अपराधों पर अंकुश लगाने के लिये पुलिस व राजस्व विभाग पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करें: डीएम

अल्मोड़ा, अपराधों पर अंकुश लगाने के लिये पुलिस विभाग व राजस्व विभाग पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करें. यह निर्देश गुरुवार को  जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने जिला कार्यालय के सभागार में आयोजित मासिक स्टाफ बैठक के दौरान सम्बन्धित अधिकारियों को दिये. उन्होंने पुलिस उपाधीक्षक को निर्देश दिये कि वे दहेज हत्या और बाल अपराधें के मामलों में कमी लाएं .जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में कुछ हद तक अपराधों में कमी आई है, हमें इस क्रम को जारी रखना होगा. उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में भी कमी लायी जाए.

इसके लिये लोगों को सड़क दुर्घटनाओं के बारे में जागरूक किया जाए और चालान व वाहन सीज के कार्यों में भी तेजी लायी जाए. जिलाधिकारी ने कहा कि गुण्डा अधिनियम के मामलों पर पैनी नजर रखी जाए ताकि अपराधियों पर अंकुश लगाया जा सके. उन्होंने पुलिस उपाधीक्षक को निर्देश दिये कि रानीखेत में सीपीयू को फिर से तैनात किया जाए जिससे वहां कि जनता को ट्रैफिक की समस्या से निजात मिल सके. उन्होंने सभी उपजिलाधिकारियों व तहसीलदारों को निर्देश दिये कि वाहन दुर्घटनाओं की मैजिस्ट्रीयल जांच के मामलों में तेजी लाये. जिलाधिकारी ने सभी उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने.

अपने क्षेत्रान्र्तगत सभी तहसील एवं पटवारी चैकियों का हर 3 माह में औचक निरीक्षण करें साथ ही अभिलेखों, नक्शों, खसरा, भू अभिलेखों व शराब की दुकानों का भी निरीक्षण करें . उन्होंने उपजिलाधिकारियों से कहा कि वे जिस विभाग के कार्यों का भौतिक निरीक्षण करने जाए तो सम्बन्धित विभाग के तकनीकी अधिकारी को भी साथ लेकर जाए जिससे कार्य की गुणवत्ता के बारे में भी पता चल सके. जिलाधिकारी ने फौजदारीवादों व राजस्व वादों के निस्तारण में तेजी लाने के निर्देश दिये. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि समाज कल्याण विभाग द्वारा पात्र लोगों को जो पेंशन भेजी जाती है उनका खण्ड विकास वार मिलान किया जाए कि ऐसे कितने खाते है जो आधार से लिंक नहीं हुये है.

जिलाधिकारी ने ऋण वसूली में भी तेजी लाने के निर्देश देते हुये कहा कि लीड बैंक अधिकारी एक विवरण बनाकर मिलान कर लें कि कितने लोगों द्वारा ऋण जमा नहीं किया जा रहा है. राजस्व वादों में 229 बीके मामलों के निस्तारण में तेजी लाने के निर्देश भी जिलाधिकारी ने दिये. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बिना स्वीकृति के जिनके द्वारा सीवर के कनैक्शन जोड़े गये है उनका चालान किया जाए.

जिलाधिकारी जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि वे गोदामों की चे समय-समय पर जांच-पड़ताल  करें. साथ ही आबकारी अधिकारी को निर्देश दिये कि जहां पर प्रिन्ट रेट से अधिक धनराशि ली जा रही है उस पर भी निगाह रखे. बैठक में सम्भागीय परिवहन अधिकारी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के न आने पर जिलाधिकारी द्वारा गहरी नाराजगी व्यक्त की और कहा कि भविष्य में इस तरह की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएेगा.जिलाधिकारी ने सभी पटल सहायको को निर्देश दिये कि वे लंबित पत्रों का निस्तारण त्वरित गति से करना सुनिश्चित करेंगे इन कार्यों में लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं होगी.