भारत और सिंगापुर आज नौसैन्य सहयोग समझौते पर करेंगे हस्ताक्षर

भारत और सिंगापुर बुधवार को नौसैन्य सहयोग को बढ़ावा देने वाले एक प्रमुख समझौते पर हस्ताक्षर करने जा रहे हैं. सिंगापुर के रक्षा मंत्री ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में साझा हितों को साधने के लिए भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के बीच प्रस्तावित चतुष्पक्षीय गठबंधन को लेकर अपनी आपत्ति जाहिर की.

अधिकारियों ने बताया कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और सिंगापुर के उनके समकक्ष एनजी एंग हेन बुधवार को इस पर विस्तृत चर्चा करेंगे.

थिंक टैंक में दिए अपने संबोधन में एनजी ने दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच बढ़ते रक्षा सहयोग का उल्लेख करते हुए इस समझौते के बारे में जिक्र किया.

उन्होंने भारत को भारत-प्रशांत क्षेत्र में ‘क्षेत्रीय शक्ति’ बताते हुए कहा कि यह दक्षिण पूर्व एशिया में सभी देशों का ‘स्वाभाविक साझेदार’ है.