पाकिस्तान: प्रदर्शनकारियों के आगे झुकी सरकार, कानून मंत्री ने दिया इस्तीफा

इस्लामाबाद।….. पिछले 20 दिनों से पाकिस्तान में प्रदर्शन कर रहे तहरीक-ए-लबैक ने कानून मंत्री जाहिद हामिद के इस्तीफे के बाद प्रदर्शन रोक दिये हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तहरीक-ए-लबैक के प्रदर्शन बंद करने की घोषणा के बाद इस्लामाबाद और अन्य शहरों से प्रदर्शनकारी तितर-बितर होना शुरू हो गए हैं.

गौरतलब है कि प्रदर्शनकारी कई सप्ताह से इस्लामाबाद के मुख्य मार्गों को रोककर धार्मिक मसलों के साथ छेड़छाड़ के विरोध में हामिद के इस्तीफे की मांग कर रहे थे. हामिद ने इस गलती को स्वीकार करते हुए माफी मांग ली थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तहरीक-ए-लबैक या रसूल अल्लाह इस्लामिक संगठन के नेता खादिम हुसैन रिजवी ने हजारों प्रदर्शनकारियों से कहा, सेनाध्यक्ष के आश्वासन के बाद हम अपना प्रदर्शन बंद कर रहे हैं.

हामिद ने मीडिया से कहा, देश के मौजूदा हालात से बाहर निकालने के लिए उन्होंने इस्तीफा देने का फैसला किया है. सरकार ने प्रदर्शनकारियों की मांगों को मान लिया है इसमें हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारियों की रिहाई की मांग भी शामिल है. पाकिस्तान के सुरक्षाबलों की शनिवार को प्रदर्शनकारियों के झड़पों में छह लोग मारे गए और 200 लोग घायल हो गए थे. संकट की इस घड़ी में सरकार के पीछे हटने को लेकर उसकी आलोचना की जा रही है.

इसके बाद एक बार फिर से पाकिस्तान की राजनीति में सेना की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं. गौरतलब है कि प्रदर्शनकारियों ने हामिद पर आरोप लगाया था कि चुनावी हलफनामे की शर्तों के साथ छेड़छाड़ की गयी थी. संशोधित संस्करण में पैगम्बर मोहम्मद के संदर्भ में छेड़छाड़ की गयी थी. शनिवार की सेना और प्रदर्शनकारियों की झड़पों के बाद पाकिस्तान में निजी समाचार चैनलों और सोशल मीडिया पर रोक लगा दी थी.