हल्द्वानी : बाहर के कुंडा लगाकर नई नवेली दुल्हन भागी लखनऊ, सुसाइड नोट भी लिखा

सांकेतिक

खूब धूम-धड़ाके के साथ उसकी शादी हुई. वह बहुत खुश भी था. नए जीवन की नई खुशियों को लेकर उसने कई तरह के सपने संजोए हुए थे. लेकिन दो दिन बाद ही उसके सपने चकनाचूर हो गए. क्योंकि शादी के तीन दिन बाद ही उसकी नई-नवेली पत्नी अचानक लापता हो गई. नई दुल्हन को पति की एक हरकत इतनी नागवार गुजरी कि तंग आकर उसने सुसाइड नोट में ऐसी बातें लिख डालीं कि जिसने भी पढ़ा यकीन नहीं कर पाया.

दुल्हन ने अपने पति पर नशेड़ी होने और झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए सुसाइड नोट लिखा और घर छोड़कर चली गई. नई नवेली दुल्हन के इस कदम से घरवाले हैरत में रह गए. उन्होंने कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई है. पुलिस का कहना है कि उसकी लोकेशन लखनऊ में मिल रही है.

हल्द्वानी स्थित सदर बाजार निवासी मोहन लाल के बेटे बिंदेश कुमार उर्फ बीरू की शादी 22 नवंबर को ऊधमसिंह नगर जिले के भगवानपुर के रहने वाले दशरथ लाल भारद्वाज की बेटी सोनी के साथ हुई थी. 24 नवंबर को रामलीला मोहल्ले के पास आशीर्वाद बारात घर में प्रीतिभोज का आयोजन किया गया था.

परिजनों का कहना है कि 26 नवंबर की सुबह करीब साढ़े चार बजे सोनी दरवाजे का कुंडा बाहर से बंद कर लापता हो गई. दुल्हन को गायब पाकर ससुराल के लोग परेशान हो गए. उन्होंने फोन किया लेकिन उसका मोबाइल बंद था. उसके कमरे में गए तो वहां सुसाइड नोट पड़ा मिला. इसमें पति पर नशा करने का आरोप लगाया गया था.

यह भी लिखा था कि झूठ बोलकर शादी की गई है. सुसाइड नोट पढ़कर घरवाले सकते में आ गए. मोहन लाल ने लिखित जानकारी कोतवाली पुलिस को दी. पुलिस ने उसका फोन सर्विलांस पर लगाया तो लोकेशन लखनऊ के हजरतगंज में मिली. उसे ढूंढने के लिए जांच टीमें लगा दी गई हैं.

सुसाइड नोट में लिखा, ‘मुझे अपने मां, पापा की परवाह नहीं. ये जिंदगी का सवाल है. मैं मरने जा रही हूं. मैं अपने घर नहीं जा रही हूं. सॉरी, पापा जी, मुझे माफ कर देना. मेरी जिंदगी का सवाल है. मैं जा रही हूं. मुझसे झूठ बोलकर शादी की गई है. सॉरी, पापा जी…मेरे मरने के बाद भी ये (पति) नशा नहीं छोड़ेंगे. मुझे अपनों ने मारा है. मेरा दुनिया में कोई नहीं है. कोई बोले तो कहना… वह अच्छी नहीं थी. मेरी मम्मी को समझा देना.

चौकी प्रभारी अजेंद्र कुमार के अनुसार सोनी का पति बिंदेश कुमार की मीरा मार्ग में क्राकरी की दुकान है. उसने शराब को आज तक हाथ तक नहीं लगाया है. पत्नी शादी के जेवर लेकर लापता हो गई है. पता चला है कि व्यवसायी ने शादी में पांच लाख रुपये खर्च किए थे.

बिंदेश के चाचा नवल किशोर जायसवाल ने बताया कि दुल्हन इंटर तक पढ़ी थी, जबकि बिंदेश आठवीं तक पढ़कर व्यवसाय करता है. शादी के पहले किसी प्रकार की दिक्कत सामने नहीं आई थी. दुल्हन करीब डेढ़ लाख के जेवर साथ ले गई है. उसका भतीजा गुटखा के अलावा कुछ खाता-पीता भी नहीं है. फिर भी नशे का आरोप लगा दिया गया.