केंद्र सरकार ने लालू प्रसाद और जीतनराम मांझी की z+ सुरक्षा वापस ली

बिहार के तीन बड़े नेताओं की सुरक्षा में कटौती की बात सामने आ रही है. राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों आरजेडी मुखिया लालू प्रसाद यादव और जीतन राम मांझी के अलावा जेडीयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव समेत देश के कुल आठ वीवीआईपी नेताओं की सुरक्षा में कटौती की गई है.

केंद्र ने आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से एनएसजी सुरक्षा हटा लिया गया है. जेड प्लस की सुरक्षा हटाने के बाद अब लालू यादव जेड श्रेणी की सुरक्षा घेरे में रहेंगे. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) के सुप्रीमो जीतन राम मांझी की सुरक्षा में तैनात सीआरपीएम जवानों की संख्या कम कर दी गयी है. जेडीयू के बागी नेता शरद यादव की जेड श्रेणी की सुरक्षा हटा कर वाई प्लस कर दी गयी है.

इनके अलावा केंद्रीय गृहमंत्रालय ने गुजरात से राज्यमंत्री हरिभाई पार्थी भाई चौधरी, सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर, जामा मस्जिद के शाही इमाम एमएसए बुखारी, दिल्ली के पूर्व लेफ्टिनेंट गवर्नर नजीब जंग और देश के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी की सुरक्षा में भी कटौती की है.

बता दें कि लालू प्रसाद यादव से जुड़ी सुविधाओं में लगातार कटौती की जा रही है. इसी साल जुलाई में लालू यादव और राबड़ी देवी को पटना एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच में मिली छूठ खत्म कर दी गयी थी. 2009 से मिली सुरक्षा जांच में छूट को केंद्रीय विमानन मंत्रालय ने हटाने का फैसला लिया था.