नागपुर में भी ‘विराट’ का शतक, ये दो रिकॉर्ड भी तोड़े

नागपुर टेस्ट में टीम इंडिया और श्रीलंका में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट में भी तीसरे दिन विराट कोहली ने  सेंचुरी ठोक कर  कोहली ने बतौर टीम इंडिया के कप्तान एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली है. कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में 12वां शतक ठोककर महान बल्लेबाज और भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे सुनील गावस्कर का रिकॉर्ड तोड़ दिया. गावस्कर ने टेस्ट में कप्तानी करते हुए 11 सेंचुरी मारी थीं. सेंचुरी की ही बात करें तो तीसरे नंबर पर अजहरुद्दीन हैं जिन्होंने कप्तान रहते हुए 9 शतक जमाए थे.

विराट कोहली ने विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम जामथा में जमकर बल्लेबाज़ी करते हुए श्रीलंकाई गेंदबाज़ों के पसीने छुड़ा दिए. अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का 51वां शतक जमाने के लिए कोहली ने 130 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौके लगाए. कोहली की पारी अभी भी जारी है और वो 153 रन बनाकर खेल रहे हैं. कोहली ने इस पारी में पुजारा के साथ मिलकर 183 रनों की साझेदारी की .

नागपुर में श्रीलंका के खिलाफ ये शतक जमाते ही विराट कोहली सबसे आगे निकल गए. उन्होंने एक ऐसा काम कर दिया जो आजतक कोई भी भारतीय कप्तान नहीं कर पाया था. कोहली का बतौर भारतीय कप्तान ये 12वां टेस्ट शतक रहा और ये सेंचुरी जमाते ही उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर के रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

बतौर भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने सबसे ज़्यादा 11 शतक थे और कोलकाता में खेले गए पहले टेस्ट में सेंचुरी लगाकर कोहली ने गावस्कर की बराबरी कर ली थी, लेकिन नागपुर में सैंकड़ा जमाते ही कोहली ने गावस्कर को पीछे छोड़ दिया. इस लिस्ट में इन दोनों के बाद नाम आता है मोहम्मद अजहरुद्दीन का. उनके नाम भारत का कप्तान रहे हुए 9 टेस्ट शतक जमाने का रिकॉर्ड है.

साल 2017 में ये विराट कोहली का 10वां टेस्ट शतक रहा और इस शतक के साथ ही उन्होंने एक साल में बतौर कप्तान दुनिया में सबसे शतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. इससे पहले ये उपलब्धि पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग के नाम थी. उन्होंने एक साल में 9 शतक लगाए थे और ये कमाल उन्होंने अपने करियर में दो-दो बार किया था.