ताड़ीखेत : नवविवाहिता को उठा ले गए कुछ लोग, पति ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

अल्मोड़ा के युवक की पत्नी को उसकी आंखों के सामने पुलिस और कुछ अन्य लोग उठाकर ले गए. शिकायत करने पर पुलिसकर्मी उसे ही डराने-धमकाने लगे. थक हारकर फिर पति ने डीएम को शिकायती पत्र लिखा.

अल्मोड़ा रानीखेत इंदिरा बस्ती निवासी एक युवक ने पुलिस की आड़ में कुछ लोगों पर उसकी पत्नी को जबरन उठाकर ले जाने का आरोप लगाया है. युवक का कहना है कि जब वह मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने कोतवाली पहुंचा तो पुलिसकर्मियों ने उसे डरा धमकाकर भगा दिया. उसने डीएम को भेजे पत्र में प्राथमिकी दर्ज कराकर पत्नी का पता लगाने की गुहार लगाई है.

चिट्ठी में इंदिरा बस्ती निवासी युवक प्रदीप कुमार आर्य का कहना है कि वह गुजरात के वड़ोदरा स्थित प्राइवेट कंपनी में काम करता था. उसका राजस्थान की रोशनी पाटीदार नामक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था. इस बीच दोनों ने विवाह करने का फैसला लिया और 14 नवंबर को उत्तराखंड आकर आर्य समाज मंदिर ताड़ीखेत में शादी कर ली.

उसका कहना है कि 17 नवंबर को कुछ पुलिसकर्मी और लोग शाम के वक्त उसके इंदिरा बस्ती आवास पर पहुंचे और जबरन उसकी पत्नी को साथ ले जाने लगे. जब उसने इसका विरोध किया तो पुलिसकर्मी और अन्य लोग मारपीट पर उतारू हो गए. इसके बाद जबरन वह लोग उसकी पत्नी को साथ ले गए. इस संबंध में कोतवाली पुलिस भी उसकी नहीं सुन रही है. उल्टा उसे ही जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं. प्रदीप कुमार ने डीएम से मामले में हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है.

एसएसआई रानीखेत कोतवाली राजीव उप्रेती ने बताया कि रोशनी पाटीदार के परिजनों ने राजस्थान में रोशनी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. राजस्थान पुलिस और उसके रिश्तेदार उसे ढूंढते हुए यहां पहुंचे. स्थानीय पुलिस ने भी उनकी मदद की. रोशनी प्रदीप कुमार के घर से बरामद हो गई. रोशनी को उसके परिजन अपने साथ राजस्थान ले गए हैं.