इस जंगली जानवर की वजह से बढ़ रहा पलायन! CM ने केंद्र से मांगी मारने की इजाजत

जंगली सूअर

उत्तराखंड में जंगली सुअरों से लोगों एवं कृषि की सुरक्षा के लिए राज्य की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने केंद्र से इन्हें मारने की अनुमति देने का अनुरोध करते हुए कहा है कि जंगली सुअरों के कारण राज्य में न केवल खेती का नुकसान हो रहा है, बल्कि इस कारण पर्वतीय क्षेत्र से लोगों का पलायन भी हो रहा है.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन से मुलाकात की और राज्य में कृषि को बचाने तथा पर्वतीय क्षेत्र से लोगों का पलायन रोकने के लिए जंगली सुअरों को मारने की अनुमति देने का अनुरोध किया.

त्रिवेंद्र रावत ने वन मंत्री से मुलाकात के दौरान बताया कि उत्तराखंड के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में जंगली सुअर खेती को अत्यधिक नुकसान पहुंचा रहे हैं. खेती में हो रहा नुकसान पर्वतीय क्षेत्रों से लोगों के पलायन का एक प्रमुख कारण बन रहा है. अतः जंगली सुअरों को मारने की अनुमति की अधिसूचना को एक और वर्ष के लिए विस्तारित करने का अनुरोध उन्होंने केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री से किया है.

मुख्यमंत्री ने इसके अलावा प्रदेश में वन भूमि हस्तांतरण तथा क्षतिपूर्ति संबंधी प्रावधानों में सरलीकरण, भागीरथी इको सेंसेटिव जोन से संबंधित अधिसूचना के प्राविधानों में संशोधन किए जाने, केम्पा के प्राविधानों का सरलीकरण, 1000 मीटर से अधिक ऊचाई वाले क्षेत्रों में पेड़ काटने की अनुमति दिए जाने के संबंध में तथा राज्य हित से सम्बंधित अन्य विषयों पर आवश्यक सहमति प्रदान करने का अनुरोध किया.

दोनों नेताओं के बीच इसके अतिरिक्त वन अधिनियम के नियमों से राज्य में विकास परियोजनाओं में आ रही बाधाओं, प्रदेश के अन्तर्गत नियोजित विकास में सहयोग, बेहतर वन प्रबन्धन तथा मानव एवं कृषि को जंगली पशुओं से होने वाली क्षति की रोकथाम हेतु भी समुचित उपाय किए जाने की आवश्यकता पर चर्चा हुई.