उत्तराखंड में 6 खेलों का ‘सेंटर ऑफ एक्सीलेंस’ स्थापित किया जाएगा!

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को नई दिल्ली में केंद्रीय खेल राज्य मंत्री कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह राठौर से भेंट करते हुए

उत्तराखंड को फुटबॉल, निशानेबाजी, तीरंदाजी और एथलेटिक्स सहित छह खेलों के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित करने की संभावना तलाशने के लिए केंद्र सरकार की एक टीम जल्द ही राज्य का दौरा करेगी.

उत्तराखंड में खेलों को बढ़ावा देने तथा खेल के क्षेत्र में बेहतर बुनियादी ढांचे के विकास के उद्देश्य से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से नई दिल्ली में मुलाकात की.

केंद्रीय खेल मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार टीम राज्य के दौरे के दौरान फुटबॉल, निशानेबाजी, तीरंदाजी और एथलेटिक्स सहित छह खेलों के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस खोलने की संभावना पर विचार करेगी.

इसके अलावा उत्तराखंड को खिलाड़ियों के लिए हाई एल्टीट्यूड ट्रेनिंग सेंटर (अधिक ऊंचाई वाले ट्रेनिंग केंद्र) के रूप में तैयार करने की संभावनाओं पर भी विचार होगा. खेल मंत्रालय ने राज्य में शूटिंग रेंज स्थापित करने की मांग भी स्वीकार कर ली है.

राज्य सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार रावत ने केंद्रीय खेल मंत्री राठौड़ को बताया कि पौड़ी के रांसी में आउटडोर स्टेडियम का निर्माण किया गया है. इस स्टेडियम में 400 मीटर का एथलेटिक्स ट्रैक, पवेलियन, खिलाड़ियों के लिए हॉस्टल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है. रांसी स्टेडियम समुद्रतल से 6000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर है, इसलिए इसके दृष्टिगत पौड़ी में हाई एल्टीट्यूड सेंटर खोले जाने का भी अनुरोध खेल मंत्री से किया गया है.

रावत ने बताया, ‘नैनीताल के हल्द्वानी में निर्माणाधीन अन्तरराष्ट्रीय खेल परिसर में सभी खेल सुविधाओं को विकसित किया गया है. इसमें अन्तरराष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट स्टेडियम, इंडोर स्टेडियम, स्वीमिंग पूल, खेल के मैदान स्थापित किए गए हैं.

उन्होंने बताया कि हल्द्वानी में कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स कोचिंग एवं स्पोर्ट्स मैनेजमेंट स्थापित किए जाने का अनुरोध केंद्रीय खेल मंत्री से किया गया है.

केंद्रीय खेल मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में खेल प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है. प्रदेश में बुनियादी ढांचे के सुनियोजित विकास से खेलों में उत्तम परिणाम मिल सकते हैं.

उन्होंने राज्य में शूटिंग रेंज स्थापित करने की मुख्यमंत्री की मांग पर अपनी सहमति प्रदान की. मुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तराखंड में होने वाले 38वें राष्ट्रीय खेलों के लिए सुविधाओं के निर्माण, सुविधाओं के सृजन एवं प्रबंधन के लिए प्रस्ताव युवा मामलों एवं खेल मंत्रालय को भेजा गया है.

इस मुलाकात के दौरान रावत एवं राठौड़ ने देहरादून स्थित महाराणा प्रताप खेल स्टेडियम के बारे में भी चर्चा की.