8 हजार मुस्लमानों की हत्या करने वाले ‘हीरो’ को मिली उम्रकैद

साराजेवो|…. बोस्निया की राजधानी साराजेवो की घेराबंदी के दौरान नागरिकों पर तोपें चलाने के मामले में लोगों की नजर में हीरो बने बोस्निया के पूर्व सैन्य कमांडर जोरान म्लादिक (74)को अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. करीब 2 दशक पहले हुए बोस्निया युद्ध का म्लादिक ने नेतृत्व किया था और करीब 8 हजार मुसलमानों का संहार करवाया था.

इस दौरान किए नरसंहार और मानवता के विरुद्ध अपराध के आरोप की सुनवाई कर रही ‘द इंटरनैशनल क्रिमिनल ट्रिब्यूनल फॉर द फॉर्मर युगोस्लाविया’ (ICTY) ने म्लादिक के अपराध को मानवता इतिहास के सबसे जघन्य अपराधों में से एक माना. 1992 से 1995 तक चले बोस्निया युद्ध के दौरान की गई ज्यादतियों के लिए सर्ब नेता रादोवान कराद्जिक और सर्बिया के राष्ट्रपति स्लोबोदान मिलोसेविक पर भी मुकद्दमा चलाया गया था.

ICTY ने साल 2016 में कराद्जिक को 40 साल की सजा सुनाई थी वहीं मिलोसेविक की साल 2006 में कारावास में मौत हो गई थी. म्लादिक की सेना ने स्रेब्रेनिका शहर में मासूम मासूम लोगों को इकट्ठा करवा कर उन्हें गोलियों और तोपों से भुनवा दिया था. म्लादिक करीब 2 दशक तक गिरफ्तारी से बचते रहे थे. उन्हें साल 2011 में सर्बिया में गिरफ्तार किया गया था.