शिकायतों के जल्दी निवारण के लिए प्रणाली में सुधार जरूरी : पीएम मोदी

बड़ी संख्या में जनता की फरियादों पर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को शिकायतों के जल्दी निवारण के लिए प्रशासनिक बंदोबस्त सुधारने की जरूरत पर जोर दिया.

‘प्रगति’ की बैठक में मोदी ने रेलवे, सड़क, ऊर्जा और अक्षय ऊर्जा क्षेत्रों में नौ बुनियादी संरचना परियोजनाओं की प्रगति का जायजा भी लिया. इस बैठक में प्रधानमंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में अनेक परियोजनाओं की समीक्षा की.

एक विज्ञप्ति के अनुसार ये परियोजनाएं उत्तराखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, नगालैंड, असम, महाराष्ट्र, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों में फैली हुई हैं. ये परियोजनाएं 30 हजार करोड़ रुपये से अधिक लागत वाली हैं.

प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के क्रियान्वयन में प्रगति की भी समीक्षा की. यह योजना खनन संबंधी गतिविधियों से प्रभावित क्षेत्रों और जनता के कल्याण के लिए है.

उन्होंने कहा कि यह काम एक लक्षित तरीके से किया जाना चाहिए, ताकि 2022 तक यथासंभव अधिक से अधिक परिणाम हासिल किए जा सकें, जब हम आजादी की 75वीं वर्षगांठ बना रहे होंगे.

आईसीटी आधारित ‘प्रो-एक्टिव गवर्नेंस एंड टाइमली इम्प्लीमेंटेशन’ (प्रगति) प्लेटफॉर्म के माध्यम से यह 23वां संवाद था.