मांगों को लेकर पीएम व सीएम को भेजा ज्ञापन

रुद्रपुर, अखिल भारतीय राज्य कर्मचारी चतुर्थ श्रेणी महासंघ के आह्वान पर विभिन्न मांगों के समर्थन में जिलाधिकारी कार्यालय के प्रांगण में जिले भर के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने धरना दिया. कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा.
कलक्ट्रेट पर चतुर्थश्रेणी कर्मचारियों ने एकत्रित होकर धरना दिया. धरने की अध्यक्षता करते हुए राजेश कुमार भारती ने कहा कि शासन द्वारा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पदों को मृत घोषित करने की स्थिति में कर्मचारियों को बहुउद्देश्यीय कर्मचारी घोषित किया जाए, जिसमें कक्षा 10 व 12 उत्तीर्ण कर्मचारियों को कनिष्ठ सहायक में समायोजित किया जाए. साथ ही जो कर्मचारी अर्ह नहीं हैं उनको तीन माह का प्रशिक्षण दिया जाए, ताकि वह कार्यालय सहायक बन सकें. जिलाध्यक्ष शंकर आर्य ने कहा कि वर्ष 2005 के बाद नियुक्त कर्मचारियों को पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू की जाए. न्यूनतम वेतन 18000 से बढ़ा कर 26000 की जाए. जिला महामंत्री चतुर्थ श्रेणी पदों पर मृत आश्रितों की न्यूनतम शैक्षिक योग्यता कक्षा पांच पास की अनिवार्यता समाप्त की जाए. चतुर्थ श्रेणी पदों का पदोन्नति कोटा 50 प्रतिशत किया जाए. धरने पर बैठने वालों में अमर सिंह, अनिल कुमार, राजू कोली, राजेंद्र सिंह, जगदीश जोशी, लखीचंद्र यादव, वेदप्रकाश, रमाकांत, विनोद, आनंद, भूपाल सिंह, मोहन सिंह आदि थे.