किसानों को अब घर बैठे मोबाइल पर मिलेंगे मंडियों के रेट

देहरादून, किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए इधर, उधर नहीं भटकना पड़ेगा. प्रदेश के किसानों को राहत पहुंचाने और उनकी आमदनी को बढ़ाने के लिए सरकार ने नए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. उन्हें उनके उत्पादों का सही मूल्य दिलाने की मकसद से राज्य के सहकारिता विभाग ने मोबाइल एप लॉन्च करने की तैयारी कर ली है. इसके लिए विभाग की ओर से शासन को यह सुझाव भी भेज दिया गया है. आपकों बता दें कि पहाड़ी इलाकों में रहने वाले किसानों को उनके उत्पादों का सही दाम नहीं मिल पाता है.

इसकी एक वजह यह भी है कि उन्हें यह जानकारी ही नहीं मिल पाती है कि किस मंडी में फल सब्जियों के दाम अधिक हैं और कहां कम. जानकारी के अभाव में वे कम कीमतों पर ही अपनी फसल बेच देते हैं.किसानों को उनके उत्पादों का सही दाम दिलाने के मकसद से ही सहकारिता विभाग ने मोबाइल एप बनाने की पहल की है. सहकारिता विभाग ने कहा है कि पहले पैक्स समितियों को ऑनलाइन किया जाएगा, उसके बाद किसानों को भी डिजिटल भारत से जोडने का काम शुरू किया जाएगा, इसके लिए एक मोबाइल एप तैयार किया जाएगा.

किसान किस तरह से मोबाइल एप को चला सकते हैं, इसके लिए प्रदेश भर में प्रशिक्षण शिविर भी लगाए जाएंगे. इसके बाद मोबाइल एप के माध्यम से किसानों को प्रदेश व बाहर की सभी मंडियों के दाम उपलब्ध कराए जाएंगे, ताकि किसानों को जानकारी मिल सके और वह अपनी सुविधा और अधिक दाम के लिए संबंधित मंडी में अपने उत्पाद बेचकर आय बढ़ा सकें.