लालू बोले- अब शेर से नहीं गाय से डरते हैं लोग

पटना, राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकेंगे. कहा कि बिहार सरकार ने 2018 में ही लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव कराने की सलाह दी है, राजद चुनाव के लिए तैयार है. चुनाव के तीन माह पूर्व फिर परिवर्तन रैली का आयोजन करेंगे. इसके बाद चुनाव में उतरेंगे. राजद की लड़ाई सीधे सांप्रदायिक ताकतों से है.

लालू रविवार को स्थानीय होटल में राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित कर रहे थे. कार्यकारिणी की बैठक में 24 राज्यों के पार्टी प्रतिनिधि शामिल हुए. श्री प्रसाद ने कहा कि देश की जनता भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने को तैयार है. उन्हें जेल या पहाड़ पर भी भेज दिया जाए, राजद का जनाधार मजबूत होगा. उन्होंने गुजरात के मतदाताओं से अपील की कि यदुवंशी, अल्पसंख्यक, किसान सभी मिलकर भाजपा व नरेंद्र मोदी को हराएंगे.

जरूरत पड़ी तो जाऊंगा गुजरात-
उन्होंने कहा कि हार्दिक पटेल से आज बात हुई है. वे तेजस्वी व मीसा के लगातार संपर्क में हैं. वहां राजद कांग्रेस व शरद यादव के साथ है. आवश्यकता पड़ी तो मैं खुद भी जाऊंगा. प्रसाद ने कहा कि आरएसएस व भाजपा ने 2014 के चुनाव में नौजवानों व देशवासियों के साथ छल किया. अपने किसी वादे को पूरा नहीं किया. नोटबंदी से अर्थव्यवस्था नीचे चली गयी और जीएसटी से महंगाई बढ़ी है. बैठक में राजनीतिक, कृषि, आर्थिक, विदेश नीति सहित सात प्रस्ताव पेश हुए. इन प्रस्तावों पर 21 नवंबर को पार्टी के खुला अधिवेशन में चर्चा होगी.

राजद प्रतिनिधि आज राजगीर भ्रमण पर जाएंगे-
बैठक में शामिल होने आए 24 प्रदेशों के 60 प्रतिनिधियों को राजगीर भ्रमण कराया जाएगा. राजद के परिवहन कमेटी के समन्वयक ई. अशोक यादव व प्रदेश महासचिव आनंद कुमार ने बताया कि तमिलनाडु, महाराष्ट्र, केरल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बंगाल सहित विभिन्न प्रदेशों के प्रतिनिधियों को राजगीर दर्शन कराया जाएगा. वे सुबह राजगीर रवाना होंगे और देर शाम लौटेंगे. रविवार को पटना में राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह, जगदानंद सिंह व अन्य.

बैठक में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद और तेजप्रताप नहीं थे मौजूद-
बैठक में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव व विधायक तेजप्रताप यादव उपस्थित नहीं थे. बैठक को तमिलनाडु की अध्यक्ष एस गौरी शंकर यादव, महाराष्ट्र के अध्यक्ष विजय सुरेश, पं बंगाल के अध्यक्ष ¨बदा प्रसाद राय ने अपने स्थानीय भाषा में संबोधित किया. संचालन प्रदेश राजद अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र पूर्वे ने किया. बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह, जगदानंद सिंह, शिवानंद तिवारी, कांति सिंह, अब्दुलबारी सिद्दिकी, आलोक मेहता आदि मौजूद थे.

पहले लोग शेर से डरते थे लेकिन अब गाय से डरने लगे है।

— Lalu Prasad Yadav (@laluprasadrjd) November 19, 2017