हार्दिक पटेल के समर्थकों ने कांग्रेस के खिलाफ किया ये बड़ा ऐलान

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी सोमवार को आगामी विधानसभा चुनावों के लिए राजकोट (पश्चिम) विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल करेंगे. इस मौके पर अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ ही साथ केंद्रीय वित्त मंत्री तथा गुजरात में भाजपा के चुनाव प्रभारी अरूण जेटली भी मौजूद रहेंगे. रुपाणी राजकोट पश्चिम विधानसभा सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. इससे पहले कल मुख्यमंत्री ने गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल के घर जाकर उनका आशीर्वाद लिया था.

नामांकन दाखिल करने से पहले विजय रूपाणी पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) के नेताओं पर हमला बोलते हुए कहा, ‘ पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता कांग्रेस के एजेंट्स की तरह काम कर रहे थे अब वह खुलकर सामने आ चुके हैं.’ आपको बता दें कि सूरत में देर रात पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के कार्यकर्ताओं ने टिकट को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के साथ हाथापाई की थी. हार्दिक पटेल के समर्थकों ने सोमवार से राज्य में कांग्रेस का विरोध करने का ऐलान करते हुए कांग्रेस से टिकट वाले उम्मीदवारों से नामांकन नहीं करने की अपील की है.

सूरत में कांग्रेस नेता तुषार चौधरी का पुतला जलाया व कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मारपीट की गई है इसके बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोलंकी के आवास, कांग्रेस कार्यालय गए. प्रत्याशियों को पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई गई है.सीएम रूपाणी के बयान का जवाब देते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गुजरात प्रभारी अशोक गहलोत ने कहा, “मैं इस हिंसा की निंदा करता हूं.

हार्दिक पटेल और उनके कार्यकर्ताओं को थोड़ा धैर्य रखना चाहिए. मामलों को बातचीत के जरिए सुलझाया जा सकता है. गुजरात के सीएम को अपनी पार्टी में टिकट्स को लेकर हो रहे झगड़ों के बारे में सोचना चाहिए न कि हम पर टिप्पणी करनी चाहिए