पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रिय रंजन दासमुंशी का निधन

सोमवार  दोपहर पूर्व केंद्रीय मंत्री और ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के पूर्व अध्यक्ष प्रियरंजन दासमुंशी का दिल्ली के अपोलो अस्पताल में 72 वर्ष की आयु में निधन हो गया.प्रियरंजन लंबे समय से कोमा में थे और नवंबर 2009 से दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भर्ती थे जहां सोमवार उनका निधन हो गया.

उनके परिवार में पत्नी दीपा दासमुंशी और बेटा प्रियदीप हैं. वे आखिरी बार 2004 में बंगाल की रायगंज सीट से लोकसभा के लिए चुने गए थे. 2008 में उन्हें स्ट्रोक और पैरालिसिस हुआ. इसके बाद से उनका इलाज चल रहा था और वे सक्रिय राजनीति से दूर हो गए थे.

दासमुंशी वेस्ट बंगाल से कांग्रेस के लोकसभा सांसद थे,. 2008 में उन्हें स्ट्रोक और पैरालिसिस हुआ था. इसके बाद से दासमुंशी बोल भी नहीं सकते थे. इसके बाद से वो दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल में थे. यूपीए सरकार के दौरान वो इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्टर थे.

पैरालिसिस के बाद उनके ब्रेन में ब्लड सप्लाई बंद हो गई थी. हालांकि, शरीर के बाकी हिस्से को बहुत ज्यादा नुकसान नहीं हुआ थ. लेकिन, चूंकि ब्रेन ही बॉडी के बाकी पार्ट्स को कंट्रोल करता है, लिहाजा दासमुंशी 9 साल तक बेड पर ही रहे. सांस लेने के लिए दासमुंशी के गले में एक ट्यूब (tracheostomy) डाली गई थी. इसके अलावा पेट में एक नली डाली गई थी जिसके जरिए दासमुंशी को लिक्विड डाइट दी जाती थी. वो अपने आसपास के लोगों को पहचान नहीं पाते थे.