रुड़की जिला न्यायालय में चली ताबड़तोड़ गोलियां, देवपाल राणा की मौत

रूड़की, रूड़की जेल के बाहर हुए तिहरे हत्याकांड में रूड़की जेल में ही बंद देवबंद के कुख्यात पूर्व पुलिसकर्मी एवं ननौता के पूर्व ब्लॉक प्रमुख देवपाल राणा व उसके दो परिचितों पर सोमवार यहां अपर जिला जज प्रथम की अदालत के बाहर तीन हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिंग करते हुए इन तीनों को घायल कर दिया. सोमवार सुबह लगभग 11:30 बजे हुई इस वारदात से कचहरी में सनसनी फैल गई.

वकीलों ने घेराबंदी कर दो हमलावरों को पकड़ लिया. जिन से पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है. जबकि बताया गया है कि एक हमलावर फरार हो गया. घायल हुए देवपाल राणा व उसके परिचित सहारनपुर निवासी सतीश को गंभीर अवस्था में हाय सेंटर रेफर किए जाने की सूचना मिली है. दिनदहाड़े हुए इस गोली कांड के बाद शहर में सनसनी फैली है. देवबंद निवासी देवपाल राणा पुत्र वी सिंह पहले पुलिस में नौकरी करता था और अब से पहले वह मंगलौर में एक सुनार के यहां हुई लूट के मामले में पकड़ा गया था. उस पर देवबंद में भी अपराधिक मुकदमें दर्ज है.

यहां की जेल के बाहर हुए तिहरे हत्याकांड के मामले में कुख्याल चीनू पंडित द्वारा उसे नामजद कराया गया था. इस मामले में कुछ माह पूर्व ही उसकी गिरफ्तारी हुई थी. तब से वह रूड़की जेल में बंद है. इससे पूव्र वह सहारनपुर के ननौता में ब्लॉक प्रमुख भी रह चुका है. रूड़की जेल से देवपाल राणा को आज तिहरे हत्याकांड के मामले में ही एडीजे प्रथ की कोट में पेशी के लिए लाया गया था.

पुलिस सुरक्षा में यहां लाए गए देवपाल राणा से मिलने के लिए सहारनपुर से अजीत व सतीश नाम दो लोग आए थ. जिनमें से एक भाजपा का नेता बातया गया है. कोर्ट में अंदर जाने से पूर्व यह लोग देवपाल राणा के साथ मुलाकात कर ही रहे थे कि तभी जेल से ही पीछा करते बताये गए तीन हमलावर एकदम से प्रकट हुए और उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग इन तीनों पर कर दी.

बताया गया है कि देवपाल राणा को पेट व शरीर के अंदर 7 गोलियां लगी, जबकि अजीत की हाथ में गोली लगी और सतीश के पैरों में दो गोलियां लगी. गोलीबारी की आवाज सुनकर कचहरी में सनसनी फैल गई, वकील मौके पर जमा हुए. वकीलों ने भागते हुए हमलावरों का पीछा किया. तीनों हमलावर एडीजे 2 कोर्ट में जा घुसे लेकिन यहां से दो हमलावरों को वकीलों ने दबोच लिया और जबरदस्त धुनाई के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को सौंप दिया.

एक हमलावर के भाग जाने की सूचना मिली है. मौके पर तमाम पुलिस अधिकारी व आसपास के कई थानों की फोर्स पहुंच गई. पुलिस ने फरार बताए गए हमलावर की तलाश में रामनगर व आसपास के इलाके में काफी देर तक कांबिंग की लेकिन वह नहीं मिल पाया. बाद में पुलिस पकड़े गए दोनों हमलावरों को पूछताछ के लिए अज्ञात स्थान पर ले गई.

उनसे पूछताछ किए जाने के बाद बताई गई है कि पुलिस की ओर से मामले को लेकर अभी कोई अधिकारिक जानकारी नहीं आई ह. अलबत्ता बतया गया कि गंभीर रूप में घायल देवपाल राणा व उसके परिचित सतीश को हालत बिड़ने पर हायर सेंटर रेफर किया गया है. तिहरे हत्याकांड के जिस मामले की पेशी पर देवपाल राणा सोमवार यहां कोर्ट में आया था.

उस मामले में उसे नामजद कराने वाले चीनू पंडित ने और मामले के अन्य गवाहों ने सीबीआईडी के समक्ष शपथ पत्र देकर देवपाल राणा के उक्त घटना में शामिल न होने का दावा किया था हालांकि अभी मामला न्यायालय में विचाराधीन है आज दिन दहाड़े इस गोली कांड के बाद शहर में सनसनी फैली है आला पुलिस अफसरों ने पूरे मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस से प्राप्त की है. हमलावर किस गैंग से हैं अभी स्पष्ट नहीं किन्तु उनके सुनील राठी गैंग से हो सकने की चर्चा फैली है.

मिली जानकारी के अनुसार देवपाल राणा की हायर सेन्टर ले जाते हुए मृत्यु हो गई है. सीओ रूड़की स्वतंत्र कुमार ने बताया कि इसकी आधिकारिक पुष्टि चिकित्सक ही करेंगे. बताया गया है कि राणा के शव पोस्टमार्टम के लिए ले जा रहा है. उधर रूड़की में आज सुबह हुए गोलीबारी के मामले को लेकर वकील वर्ग में अपनी सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए है. इधर न्यायायल के अधिकारीगण भी चिंतित है.