बारिश के बाद बदला दिल्ली के मौसम का मिजाज, प्रदूषण से मिली कुछ राहत

नई दिल्ली, राजस्थान और जम्मू-कश्मीर की ओर बने पश्चिमी विक्षोभ के असर से दिल्ली में शनिवार को मौसम का मिजाज बदला हुआ नजर आया. शनिवार सुबह के समय बादलों ने राजधानी में डेरा डाल दिया था. कुछ जगहों पर हल्की बूंदाबांदी भी हुई. बारिश की वजह से दिल्ली-एनसीआर को जहरीली हवा से भी राहत मिली है.

प्रदूषण के स्तर में कमी
हवा की रफ्तार भी 8 से 13 किलोमीटर प्रतिघंटे रही. इसकी वजह से प्रदूषण के स्तर में काफी कमी आ गई है. तापमान में भी दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है. दिल्ली में फिलहाल आंशिक रूप से बादल छाए रहने और हल्की बारिश के आसार हैं.

10 डिग्री तक जा सकता है न्यूनतम तापमान
हालांकि, इसके बाद दिल्ली में आने वाले दिनों में बारिश की उम्मीद नहीं है, लेकिन हवा अगले दो से तीन दिनों तक इसी तरह चलती रहेगी. लिहाजा, अगले तीन दिनों में तापमान में भी काफी कमी आ जाएगी. 20 नवंबर के बाद न्यूनतम तापमान 10 डिग्री तक जा सकता है.

आसमान साफ रहेगा
स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया कि हवा की गति बढ़ने की वजह से अब कोहरे के आसार नहीं हैं. अगले दो दिनों में दिल्ली में ठंड बढ़ने की पूरी संभावना है. अधिकतम और न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज की आएगी. अगले दो दिनों में तापमान दो डिग्री तक गिर जाएगा. अगले कुछ दिनों तक आसमान साफ रहेगा.

स्मॉग से राहत
गौरतलब है कि शुक्रवार को पूरे दिन हवा की रफ्तार 8 से 13 किलोमीटर के बीच बनी रही.इसकी वजह से दृश्यता भी अच्छी रही.स्मॉग से दिल्ली को छुटकारा मिल गया है.शुक्रवार रात करीब 8 बजे तक दिल्ली का वायु गुणवत्ता स्तर 301 दर्ज किया गया.

सफर के मुताबिक दिल्ली का पीएम (पार्टिकुलेट मैटर) 2.5 का औसतन स्तर महज 140 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा.वहीं, बुराड़ी क्रॉसिग, पूसा, शादीपुर, नॉर्थ कैंपस, आइटीओ, नोएडा सेक्टर-62, फरीदाबाद व भिवाड़ी में भी यह 300 से काफी कम रहा.अधिकांश जगहों पर पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर दोगुना दर्ज हुआ.हालाकि, आनंद विहार, डीटीयू, लोधी रोड, द्वारका, पंजाबी बाग और गाजियाबाद में अब भी इन दोनों का स्तर 300 से काफी अधिक दर्ज हो रहा है.