दिल्ली के ITO मेट्रो स्टेशन पर महिला पत्रकार से छेड़छाड़, आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली, महिला सुरक्षा को लेकर सरकार लाख दावा करे, लेकिन देश की राजधानी दिल्ली में महिलाएं सुरक्षित नहीं है. एक महिला पत्रकार से छेड़खानी का वीडियो इस बात की तस्दीक करता है. यह छेड़खानी दिल्ली पुलिस मुख्यालय से चंद कदमों की दूरी पर स्थित ITO मेट्रो स्टेशन की सीढ़िय़ों पर हुई. महिला पत्रकार के साथ छेड़छाड़ की पूरी घटना 13 नवंबर की है. घटना के चार दिन बाद छेड़छाड़ की घटना की सीसीटीवी फुटेज वायरल हुई है. पीड़िता एक अंग्रेजी दैनिक में वरिष्ठ पत्रकार है.

जानकारी के मुताबिक, महिला पत्रकार आइटीवी मेट्रो स्टेशन सीढ़ियों से जा रही थी. इस दौरान पीछे से एक युवक ने छेड़छाड़ शुरू कर दी.पीड़िता द्वारा विरोध करने पर उसकी पिटाई भी की गई. हालांकि, सीसीटीवी में साफ देखा जा सकता है कि छेड़छाड़ का महिला पत्रकार ने जमकर विरोध किया. वहीं, मामले की सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए.

वहीं, अब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसे पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. आरोपी पर दो महिलाओं से छेड़छाड़ का आरोप है, जिसमें महिला पत्रकार भी शामिल है. छेड़छाड़ का आरोपी उस दौरान नशे में था.पीड़िता की लिखित शिकायत पर यमुना बैंक थाना पुलिस छानबीन कर रही है. पुलिस के मुताबिक, घटना सोमवार रात करीब 9:30 बजे की है. सोमवार रात करीब 9:20 बजे वह काम खत्म करने के बाद ग्रेटर कैलाश स्थित अपने घर जाने के लिए दफ्तर से निकली.

शिकायत के मुताबिक, पत्रकार मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर-1 पर पहुंचकर नीचे जाने के लिए सीढिय़ां उतर रही थी. इसी दौरान एक शख्स ने पीड़िता को धक्का मारा. शुरुआत में पीड़िता ने इसे नजरअंदाज कर दिया. आरोपी दुबारा बदलसूकी करने लगा. पीड़िता ने इसका विरोध किया तो आरोपी उसके साथ मारपीट करने लगा. वहीं, आरोपी ने महिला को पीट-पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया.

घटना के बाद महिला पत्रकार का कहना है कि शुरुआत में मुझे लगा कि उसने गलती से मुझे छुआ है, लेकिन जब उसने जानबूझकर छूना शुरू किया तो मैं सचेत हो गई. इसके बाद मुझे उसने कुछ पल के लिए पकड़ लिया. इस दौरान वहां पर कोई सुरक्षाकर्मी नहीं था.