देहरादून : अलग-अलग टूरिस्ट डेस्टिनेशन को विकसित करने का प्लान तैयार

देहरादून, सूबे में पर्यटन विभाग अलग-अलग टूरिस्ट डेस्टिनेशन को तैयार करने की कवायद कर रहा है. सूबे के मंत्री सतपाल महाराज लगातार इस बारे में प्रयासरत हैं. सतपाल महाराज ने सूबे में पर्यटन को उद्योग और रोजगार परक बनाने के उद्देश्य से कई परियोजनाओं की शुरूआत करते हुए. यहां के अलग-अलग टूरिस्ट डेस्टिनेशन को विकसित करने का प्लान तैयार किया है.

विभाग के इस काम में वन विभाग की ओर से भी मदद की जा रही है. सूबे में 15 फीसदी हिस्सा वनो से ढका हुआ है. ऐसे में यहां आने वाले पर्यटकों के लिए हरियाली के साथ प्राकृतिक वातावरण भी ज्यादा महत्वपूर्ण होता है. ऐसे में साल 2009 में सूबे में आने वाले पर्यटकों के लिए कुछ नए स्पॉटों के विकसित करने के उद्देश्य से वन विभाग ने नैनीताल के आस-पास स्थित कई तालों को विकसित करते हुए इनके आस-पास कई सुविधाएं उपलब्ध कराई थीं. इसी उद्देश्य से सडियाताल के आसपास के इलाके को सुविधाजनक तौर पर तैयार किया गया था. जिसके बाद से ये एक बेहतर प्रयास के तौर पर सामने आया है. नैनीताल घूमने आने वाले पर्यटक इस डेस्टिनेशन पर जरूर आते हैं.

इस नए डेस्टिनेशन की लोकप्रियता इस बात से भी आंकी जा सकती है, कि इस जगह पर जहां साल 2009 में 74 हजार पर्यटक आये थे, वहीं साल 2017 में अब तक 2 लाख 32 हजार पर्यटक आ चुके हैं. अब सूबे का पर्यटन विभाग वन विभाग के साथ मिलकर कई ऐसे डेस्टिनेशन को तलाश कर विकसित करने का प्रोजेक्ट ला रहा है. जिससे सूबे में पर्यटकों की आमद बढ़े और राजस्व के साथ यहां पर पर्यटक से जुड़े उद्योगों और रोजगारों के अवसर बढ़ सकें.