जानें क्यों ये खिलाड़ी चल पड़ा आतंक की राह पर, सेना के समक्ष किया सरेंडर

श्रीनगर, फुटबालर से  आतंकवाद की राह पकडऩे वाले माजिद इरशाद खान ने सेना के समक्ष सरेंडर कर दिया है. फिलहाल, कोई भी अधिकारी इस संदर्भ में कुछ भी बोलने से इंकार कर रहा है. संबधित सूत्रों ने बताया कि करीब आठ दिन पहले आतंकी बने वाले अनंतनाग के माजिद इरशाद खान को बीती रात सेना की 1 आरआर के जवानों ने अनंतनाग और कुलगाम के बीच वनपोह में घेर लिया था.

उसे वहां सरेंडर का मौका दिया गया और उसके बाद उसने हथियार छोड़ दिए. संबधित अधिकारियों ने बताया कि माजिद खान के वनपोह में एक जगह विशेष पर छिपे होने की सूचना पर ही 1 आरआर के जवानों ने सुनियोजित तरीके से उसके ठिकाने की घेराबंदी की और उसे सरेंडर के लिए कहा और उसने गोली चलाने के बजाय हथियार छोड़ दिया.

अनंतनाग के बेहतरीन फुटबाल खिलाडिय़ां मे गिने जाने वाले माजिद इरशाद खान के परिजन और दोस्त उसके आतंकी बनने के दिन से ही हर जगह उसके लौटने की अपील कर रहे थे. गत बुधवार को वह कुलगाम में एक आतंकी के जनाजे में भी शामिल हुआ था.

सूत्रों की मानें तो सेना ने माजिद इरशाद खान को शुक्रवार सुबह ही राज्य पुलिस के हवाले किया है. लेकिन आईजीपी कश्मीर मुनीर अहमद खान, डीआईजी दक्षिण कश्मीर रेंज स्वयं प्रकाश पाणि समेत किसी पुलिस अधिकारी या सैन्याधिकारी ने माजिद इरशाद के सरेंडर किए जाने या पकड़े जाने पर किसी तरह की जानकारी से इंकार किया है.