प्रदूषण से निपटने के लिए पेट्रोलियम मंत्रालय ने लिया यह बड़ा फैसला

दिल्‍ली-एनसीआर में ऑटो ईंधन से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए पेट्रोलियम मंत्रालय ने फैसला लिया है कि बीएस-VI ईंधन को दो साल पहले लाया जाएगा. इससे पहले बीएस-VI को 2020 में लाने का फैसला लिया गया था.

पेट्रोलयम मंत्रालय ने यह फैसला वाहनों के उत्‍सर्जन को कम करने और ईंधन की दक्षता में सुधार लाकर कार्बन के प्रभाव को कम करने के लिए किया है. मंत्रालय अपने फैसले को पूरे एनसीआर पर लागू करने पर विचार कर रहा है. यह फैसला अप्रैल 2018 से दिल्‍ली में लागू होगा.

पेट्रोलियम मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली में बीते एक-दो सालों में बढ़ी स्मॉग और प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए इस संबंध में फैसला लिया गया है. मंत्रालय ने कंपनियों से 1 अप्रैल, 2019 तक एनसीआर के अन्य शहरों में भी बीएस-VI ग्रेड के ईंधन को बेचने की संभावनाएं तलाशने के लिए कहा है. मंत्रालय का कहना है कि इससे दिल्ली और आसपास के शहरों में प्रदूषण की समस्या से निजात पाने में मदद मिलेगी.

गौरतलब है कि 1 अप्रैल 2017 से सुप्रीम कोर्ट ने ऑटो निर्माता कंपनियां के बीएस-3 गाड़ियों की बिक्री पर रोक लगा दी थी. कोर्ट ने कहा था कि कंपनियों को पता था कि 1 अप्रैल 2017 से BS 4 गाडियां ही बेची जा सकेंगी. इसके बावजूद कंपनियों ने स्टॉक खत्म नहीं किया.