साल 2018 को लेकर नास्‍त्रेदमस ने की ये डरावनी भविष्यवाणियां

एशिया में सैन्य तनाव अपने चरम पर है. भारत-पाकिस्तान, उत्तर कोरिया-दक्षिण कोरिया, चीन-ताइवान आदि देशों के अलावा बर्मा, बांग्लादेश, श्रीलंका जैसे छोटे देश भी असंतोष की आग में जल रहे हैं. दुनिया के विनाश को लेकर फ्रांस के चर्चित भविष्यवक्ता नास्‍त्रेदमस की कई भविष्यवाणियां सच साबित हो चुकी हैं. नास्‍त्रेदमस ने साल 2018 के लिए भी कई डरावनी भविष्यवाणियां की हैं. अगर 2018 की भविष्यवाणियां भी सच साबित होती हैं तो समझिए कि यह साल दुनिया के लिए सबसे डरावना साबित होगा.

नास्त्रेदमस ने अपनी किताब ‘द प्रोफेसीज’ में तीसरे विश्व युद्ध और वैश्विक व्यवस्था में एक बड़े फेरदबदल की भविष्यवाणी की है. नास्त्रेदमस ने भविष्यवाणी के मुताबिक, तीसरा विश्व युद्ध केवल दो और दो से ज्यादा देशों में नहीं बल्कि दो दिशाओं के बीच का होगा यानी पूरब और पश्चिम के बीच. ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि अमरीका और कोरिया में युद्ध छिड़ सकता है.

नास्त्रेदमस भविष्यवाणी के मुताबिक, आदमी आदमी को मार रहे होंगे और युद्ध के अंत में कुछ लोग ही शांति का आनंद उठाने के लिए बचेंगे., आसमान से उड़ती हुई आग की गेंदे गिरेंगी और लोग असहाय हो जाएंगे. उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के लगातार न्यूक्लियर मिसाइल्स परीक्षणों से लगातार यह डर बना ही हुआ है. नास्त्रेदमस का नाम हर कोई जानता है लेकिन जो नहीं जानते उनके लिए बता दें कि 14 दिसंबर 1503 को फ्रांस के एक छोटे से गांव में जन्मे नास्त्रेदमस ने 16 शताब्दी में कविताओं के जरिए दुनिया के भविष्य के बारे में कई भविष्य वाणियां की थीं। नास्त्रेदमस की लिखी कई भविष्यवाणियां बिल्कुल सच साबित हुई हैं.

नास्त्रेदमस की जो भविष्यवाणियां सच साबित हुई हैं उनमें द्वितीय विश्व युद्ध, परमाणु बम, अमरीका में 9/11 आतंकी हमला और हिटलर के उदय के बारे में कहा गया था. बताया जा रहा है कि नास्त्रेदमस के पास एक बार एक नौजवान युवक आया तो उन्होंने उसे झुककर प्रणाम किया. इस उनके दोस्त हैरान हुए और युवक के अभिवादन का कारण पूछा तो नास्त्रेदमस ने बताया कि यह शख्स आगे चलकर पोप बनेगा. वह युवक आगे चलकर 1558 में पोप चुना गया. इतना ही नहीं नास्त्रेदमस ने जिस तरह से अपने मौत की भविष्यवाणी की उससे पूरा यूरोप हैरान रह गया.

नास्त्रेदमस अपनी रोचक और डरावनी भविष्यवाणी के लिए चर्चा में आ चुके हैं. ऐसा कहा जाता है कि उनकी कई भविष्यवाणियां साबित हुई हैं लेकिन कुछ भविष्यवाणी ऐसी भी हैं जो गलत साबित हुई हैं।.शोध करने वालों के अनुसार, नास्त्रेदमस ने लिखा था कि 21 दिसंबर 2012 को दुनिया का अंत हो जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

नास्त्रेदमस ने सूरज पर भूकंप आने की भी बात लिखते हैं जो कि संभव नहीं है. इसलिए लोग नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों को सच मानने की बजाए रोचक ऐलानों के रूप में लेते हैं.
नास्‍त्रेदमस ने 2017 के बारे में की थीं ये भविष्यवाणियां

1- दुनिया में आर्थिक विषमता दूर करने के लिए चीन कोई बड़ा कदम उठा सकता है. नास्त्रेदमस के मुताबिक, इस कदम के बहुत दूरगामी प्रभाव होंगे. पिछले कुछ दशकों में जिस तरह से चीन का आर्थिक प्रभाव बढ़ा उससे व्याखा करने वाले नास्त्रेदमस की बात को सही मान रहे हैं.

3- साल 2017 में लैटिन अमेरिकी देशों में बड़े बदलाव का साल होगा. नास्त्रेदमस के मुताबिक, इस साल कई लैटिन अमेरिकी देश वामपंथी राजनीति से दूर हो जाएंगे. हालांकि इस कारण क्षेत्र में राजनीति और सामाजिक गतिरोध हो सकता है.

4- नास्त्रेदमस के मुताबिक, 2017 में घटते संसाधनों और ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण युद्ध की स्थितियां बन सकती हैं. हालांकि, दुनिया को अभी भी सबसे ज्यादा खतरा आतंकवाद और जैविक हमलों से होगा.