मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना बंद नहीं की गई है : CM त्रिवेंद्र रावत

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत-फाइल फोटो

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को कहा कि उत्तराखंड सरकार ने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना को बंद नहीं किया है और योजना के तहत अनुबंधित कंपनी पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी.

कुछ समाचार माध्यमों में इस योजना के बंद होने के संबंध में छपी खबरों के बारे में पूछे जाने पर मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने साफ किया कि राज्य सरकार ने स्वास्थ्य बीमा योजना को बंद नहीं किया है और जिस कम्पनी के साथ अनुबंध किया गया था, उस पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने यह भी जोड़ा कि यदि इसमें कोई अधिकारी संलिप्त होगा तो निश्चित रूप से उस पर भी कार्रवाई की जाएगी.

योजना के बंद होने से मरीजों को हो रही परेशानी के बाबत मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के अंतर्गत कवर मरीजों पर होने वाले चिकित्सकीय व्यय का वहन राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि इस संबंध में डॉक्टरों को निर्देश दिए गए हैं कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना से जुड़े मरीजों का इलाज किया जाए और उसमें आने वाला खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा.

रावत ने कहा कि सरकार इस योजना को लेकर पूरी तरह से संवेदनशील और गम्भीर है और इसमें किसी भी तरह की लापरवाही अक्षम्य होगी.

उन्होंने शनिवार को अपने लखनऊ दौरे की जानकारी देते हुए कहा कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के दौरान उन्हें आश्वासन मिला है कि पुलिस विभाग के आधुनिकीकरण योजना का लाभ निश्चित रूप से उत्तराखंड को भी मिलेगा.

परिसंपत्तियों के बंटवारे पर उन्होंने बताया कि उनके उत्तर प्रदेश के समकक्ष योगी आदित्यनाथ भी लम्बित प्रकरणों को शीघ्र निस्तारित करना चाहते हैं.