‘रैबार’ कार्यक्रम से उत्तराखंड को कई लाभ हुए, रेलवे सेवाओं का भी होगा विस्तार

हाल में उत्तराखंड की 17वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित ‘रैबार’ कार्यक्रम को काफी सफल बताते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को कहा कि इससे राज्य को कई लाभ होने वाले हैं.

अस्थायी राजधानी देहरादून स्थित मुख्यमंत्री आवास में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के विभिन्न महत्वपूर्ण स्थानों पर कार्यरत उत्तराखंड की हस्तियों के साथ 10 घंटे लगातार कई विषयों पर मंथन के बाद सभी अनुभवों को इकट्ठा कर आगे की रणनीति तैयार की जाएगी.

‘रैबार’ कार्यक्रम से हुए त्वरित लाभ बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के लिए कोस्ट गार्ड का रिक्रूटिंग सेंटर स्वीकृत हो गया है और राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान संगठन (एनटीआरओ) का साईबर सुरक्षा प्रशिक्षण केन्द्र तीन माह में राज्य में खुल जाएगा.

उन्होंने कहा कि रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी द्वारा राज्य में रेलवे सेवाओं में सुधार का आश्वासन मिला है और सेना द्वारा राज्य के सीमान्त एवं सामरिक दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मज़बूत करने हेतु चार करोड़ अखरोट और चिलगोजे के पेड़ लगाए जाएंगे. इसके लिए नर्सरी भी तैयार कर दी गई हैं.