लखनऊ : मसाज पार्लर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, सात युवतियां गिरफ्तार

लखनऊ, प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मसाज पार्लर के नाम पर अनैतिक धंधा चरम पर है. शहर के पॉश इलाके गोमतीनगर में तीन महीने में मसाज पार्लर के नाम पर तीसरा सेक्स रैकेट पकड़ा गया है. पुलिस ने कल रात छापा मारकर सात लड़कियों के साथ एक युवक को मसाज पार्लर से पकड़ा. गोमतीनगर रेलवे स्टेशन के पास बीडी टावर में लंबे समय से मसाज पार्लर की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट का रात पुलिस ने राजफाश कर दिया.

पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर पार्लर से सात लड़कियों के साथ एक आयुष के डॉक्टर कमलेश यादव को बेहद आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने पार्लर से काफी मात्र में आपत्तिजनक वस्तुएं बरामद की हैं. सीओ गोमतीनगर दीपक कुमार सिंह के मुताबिक पकड़े गए लोगों में दो युवतियां हिमाचल प्रदेश की, दो अरुणाचल प्रदेश, दो फैजाबाद और एक जानकीपुरम की है.

पुलिस के मुताबिक कमलेश यादव ही मसाज पार्लर का संचालक है. इसके अलावा गिरोह से जुड़े अन्य लोगों का पता लगाया जा रहा है.पुलिस ने पार्लर से सात लड़कियों और 2 लड़कों को आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार किया. मसाज पार्लर का सरगना और संचालक कमलेश यादव मौके से फरार हो गया.

गोमतीनगर के विनय खंड 4 में एम वीडी प्लाजा में एक आयुर्वेदिक स्पा के नाम से मसाज पार्लर था. वहीं पुलिस को काफी दिनों से शिकायत मिल रही थी. इस मसाज पार्लर में सेक्स रैकेट चल रहा है. इस सूचना पर पुलिस ने छापेमारी करके मौके पर 7 लड़कियों और 2 लड़के आपत्तिजनक स्थिति में दबोचा. वहीं गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने सभी लड़कियों को महिला थाने भेज दिया है.

मसाज के लिए आने वालों से तय होता था सौदा
पुलिस के मुताबिक देह व्यापार के धंधे में संलिप्त युवतियां पहले लोगों को फोन कर उनसे बात करती थी. मसाज के बारे में उन्हें जानकारी देते थीं. मसाज के लिए 999 रुपये प्रति व्यक्ति से लिए जाते थे. मसाज के लिए जब ग्राहक आ जाता था. इसके बाद लड़कियां मसाज के दौरान ही उससे सौदा तय कर लेती थीं. सौदा काम के हिसाब से कुछ घंटों के लिए दो हजार से दस हजार तक जाता था. इसकी शुरुआत पांच हजार रुपये से शुरुआत होती थी.

शौक पूरे करने के लिए करती थी देह का धंधा
पुलिस के मुताबिक यह लड़कियां पढऩे लिखने वाली हैं. यह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए अपने घरों से आकर राजधानी के पॉश कॉलोनियों में रह रही थी.