रांची में मुस्लिम महिला योग शिक्षक के घर पर पत्थर फेंके गए, सुरक्षा बढ़ाई

झारखंड की राजधानी रांची के हटिया इलाके में रहने वाली योग अध्यापिका रफिया नाज के योग सिखाने के खिलाफ उनके समुदाय से मिली धमकी और शुक्रवार को उसके आवास पर कथित तौर पर कुछ लोगों द्वारा पत्थर फेंकने के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

रांची के पुलिस प्रवक्ता पुलिस उपाधीक्षक विकासचंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि रफिया को मंच पर योग करने के खिलाफ उसके समुदाय के ही कुछ लोगों ने धमकी दी थी, जिसकी उसने दो दिन पूर्व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुलदीप द्विवेदी से शिकायत की थी.

इसके बाद उसे पुलिस सुरक्षा प्रदान कर दी गई थी, लेकिन शुक्रवार को एक टीवी चैनल पर उसका इंटरव्यू दिखाए जाने के बाद कथित तौर पर कुछ लोगों ने उसके घर पर पत्थर फेंके, जिसके बाद स्वयं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उसके घर का दौरा कर उससे और उसके परिजनों से मुलाकात की और उसे पूरी सुरक्षा का आश्वासन दिया.

उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और पूछताछ के लिए कुछ लोगों को थाने पर बुलाया भी गया है. इस बीच नाज के घर पर पुलिस की दो क्विक रिस्पांस टीमें भी तैनात कर दी गई हैं. उसके घर की सुरक्षा की जिम्मेदारी क्षेत्र के पुलिस उपाधीक्षक विकास पांडेय स्वयं देख रहे हैं.

पुलिस ने यह भी स्पष्ट किया है कि इस मामले को कुछ लोगों ने और मीडिया के एक वर्ग ने अधिक तूल दिया, जबकि ऐसी बात थी नहीं. रांची में हटिया के डोरंडा इलाके की रहने वाली राफिया नाज योग सिखाकर अपनी आजीविका चलाती हैं, जबकि योग सिखाना जारी रखने पर उसे फतवे के जरिए धमकाया गया.