इजराल पीएम से मुलाकात पर विवाद के बात प्रीति पटेल का इस्तीफा

लंदन|….. ब्रिटेन में भारतीय मूल की सबसे वरिष्‍ठ मंत्री प्रीति पटेल ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया. उन्‍हें अगस्‍त में अपने इजराय दौरे के दौरान पीएम बेंजामिन नेतन्याहू समेत कई शीर्ष अधिकारियों के साथ अनाधिकारिक मुलाकात भारी पड़ गई. पटेल की इस मुलाकात को राजनयिक प्रोटोकोल का उल्लंघन माना गया था.

प्रधानमंत्री थेरेसा ने किया तलब
प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने प्रीति पटेल को तलब कर लिया. ऐसे में उन्‍हें अपने अफ्रीका दौरे को बीच में ही छोड़ वापस ब्रिटेन लौटना पड़ा और डाउनिंग स्‍ट्रीट में थेरेसा मे से मुलाकात के बाद मंत्री मद से इस्‍तीफा दे दिया.

इस्‍तीफे के साथ फिर मांगी माफी
प्रीति पटेल ने इस्‍तीफे के साथ एक बार फिर माफी मांगी. उन्‍होंने कहा, ‘मैंने जो किया वो सही इरादे से किया, लेकिन ये पारदर्शिता और खुलेपन के उन उच्च मानकों के अनुरूप नहीं था जिन्हें मैं बढ़ावा देती रही हूं. जो हुआ उसके लिए मैं आपसे और सरकार से माफी मांगती हूं और अपने इस्तीफ़े की पेशकश करती हूं.’

इस मामले में प्रीति पटेल पहले भी माफी मांग चुकी थी, जिसे स्‍वीकार कर लिया गया था. इस बारे में डाउनिंग स्‍ट्रीट ने कहा था कि अगस्त में विदेश कार्यालय को जानकारी दिए बगैर इजराइल में छुट्टियों के दौरान की गई मुलाकातों के लिए प्रीति पटेल की तरफ से माफी मांगी है, जिसे स्‍वीकार कर लिया गया. हालांकि इसराइल अधिकारियों के साथ उनकी मुलाकातों को लेकर हुए नए खुलासों ने कैबिनेट में उनकी स्थिति को बेहद अनिश्चित बना दिया है.

कंजरवेटिव पार्टी की थी उभरती नेता
प्रीति पटेल के इस्‍तीफे से कंजरवेटिव पार्टी से महत्‍वपूर्ण नेता के रूप में उनके उभरने की संभावनाओं पर विराम लग गया. गुजराती मूल की प्रीति पटेल को प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार के तौर पर भी देखा जा रहा था. थेरेसा मे ने पिछले साल उन्‍हें अंतरराष्‍ट्रीय विकास मंत्रालय का प्रभार सौंपा था.