हिमाचल विधानसभा चुनाव 2017 : 74% वोटिंग, पिछले चुनाव से 1% ज्यादा वोट पड़े

शिमला, गुरुवार को हिमाचल प्रदेश की 68 सदस्यीय विधानसभा सीटों पर पहले चरण का मतदान शांतिपूर्वक संपन हो गया है.  चुनाव आयोग के मुताबिक, पांच बजे तक 74% वोटिंग हुई. यह पिछली बार से 1 फीसदी वोटिंग ज्यादा है. 2012 चुनाव में 73.4%फीसदी वोटिंग हुई थी.

इस चुनाव में 337 कैंडिडेट्स मैदान में उतरे हैं, इनमें से 62 मौजूदा विधायक हैं. 50,25,941 वोटर्स हैं. चुनाव में बीजेपी की ओर से प्रेम कुमार धूमल सीएम कैंडिडेट हैं, जो सुजानपुर से चुनाव लड़ रहे हैं.

कांग्रेस की ओर से चेहरा मौजूदा सीएम वीरभद्र सिंह हैं, जो अर्की से चुनाव लड़ रहे हैं. पिछली बार 73.4% वोटिंग हुई थी.प्रेम कुमार धूमल ने कहा, “हमने 50+ सीटें जीतने का टारगेट रखा है. लेकिन हर तबके से जिस तरह का सपोर्ट मिल रहा है, उसे देखते हुए तो यही लगता है कि हम 60 से ज्यादा सीटें जीत जाएंगे.”

धूमल के बेटे और हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा, “अब वक्त आ गया है। लोगों ने हिमाचल को लूटने वाली कांग्रेस को बाहर करने का मन बना लिया है. प्रदेश को धूमल जी जैसे सीनियर लीडर की जरूरत है. राज्य पर 50 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज है.”

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह 6 बार सीएम रह चुके हैं. कांग्रेस जीती तो वे 7वीं बार सीएम बनेंगे जो एक रिकॉर्ड होगा. प्रेम कुमार धूमल दो बार सीएम रह चुके हैं. दोनों ही नेता इस बार नई सीटों पर किस्मत आजमा रहे हैं. कांग्रेस 10 साल से अर्की को नहीं जीत सकी है. कांग्रेस को वीरभद्र से उम्मीद है. वहीं धूमल को इस बार सुजारपुर से टिकट दिया गया है. यहां कांग्रेस के राजेंद्र राणा ने मुकाबला रोचक बना रखा है.

इस चुनाव में भाजपा की तरफ से प्रेम कुमार धूमल मुख्यमंत्री उम्मीदवार के रूप में मैदान में हैं वहीं कांग्रेस ने वीरभद्र सिंह को ही अपना उम्मीदवार बनाया है. मतदान शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोगों से ज्यादा से ज्यादा मतदान करने की अपील की है.

प्रदेश में पहली बार सभी सीटों पर वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रोल (वीवीपैट) मशीनों का उपयोग होगा. सुचारू मतदान के लिए प्रदेश भर में 7525 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. वोटों की गिनती गुजरात विधानसभा चुनाव के साथ ही 18 दिसंबर को होगी.