नोटबंदी को हुए 1 साल पूरे, प्रधानमंत्री मोदी ने किया विडियो जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार सुबह एक विडियो के जरिए एक बार फिर नोटबंदी के फायदे गिनाए और देशवासियों को सहयोग के लिए धन्यवाद दिया. विडियो में आंकड़ों के जरिए बताने की कोशिश की गई है कि नोटबंदी अर्थव्यवस्था के लिए किस तरह फायदेमंद साबित हुई. पीएम मोदी ने लोगों से एक सर्वे के जरिए उनकी राय भी जाननी चाही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को लेकर एक के बाद एक चार ट्वीट किए. उन्होंने लिखा, ‘भ्रष्टाचार और कालेधन को जड़ से उखाड़ने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कई कदमों का दृढ़तापूर्वक समर्थन करने के लिए मैं भारत के लोगों के आगे सर झुकाता हूं.’ उन्होंने कहा कि 125 करोड़ भारतीयों ने एक निर्णायक लड़ाई लड़ी और जीत हासिल की. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने नोटबंदी पर बनाई गई एक शॉर्ट फिल्म भी अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर की है.

7.13 मिनट की इस शॉर्ट फिल्म में नोटबंदी के तमाम फायदे गिनाए गए हैं. नोटबंदी को गरीबों और ईमानदारों के पक्ष में बताते हुए कहा गया है कि 1000 और 500 के पुराने नोट बंद होने से गरीबों और ईमानदार लोगों की नींद हराम नहीं हुई. विडियो में दावा किया गया है कि नोटबंदी के चलते देश में जमा कालाधन बैंकों में लौट आया है और आज सरकार के पास उनके मालिकों के नाम, पते और चेहरे मौजूद हैं. बताया गया है कि 23 लाख बैंक खातों में जमा 3.68 लाख करोड़ की राशि जांच के घेरे में है.

विडियो के मुताबिक, नोटबंदी से आतंकवाद और नक्सलवाद पर करारा प्रहार हुआ. कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं में 75 फीसदी की कमी आई और नक्सलवाद में भी 20 फीसदी गिरावट देखने को मिली. इसके आलावा जाली नोटों और ड्रग्स के धंधे को भी बड़ा झटका लगा. शेल कंपनियों पर हुई कार्रवाई को विडियो में ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ बताते हुए कहा गया है कि इसके जरिए 2.24 लाख कंपनियां बंद की गईं. कहा गया है कि नोटबंदी नहीं होती तो आज 18 लाख करोड़ की हाई वैल्यू करंसी होती जो अब घटकर 12 लाख करोड़ हो चुकी है.