इस पार्टी ने आरबीआई के पूर्व गवर्नर को राज्यसभा भेजने का लिया फैसला

नई दिल्ली, आम आदमी पार्टी में पिछले कुछ महीने से चल रहे आतंरिक कलह की खबरों के बीच एक और चौंकाने वाला फैसला आ सकता है. सूत्रों के हवाले से ऐसी खबर आ रही है कि पार्टी राज्य सभा किसी पार्टी नेता को नहीं बल्कि बाहरी सदस्य को भेज सकती है. दिल्ली से राज्य सभा की 3 सीटें हैं जिनके लिए जनवरी में चुनाव होना है.सूत्रों ने बताया कि पार्टी आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के साथ भी संपर्क में हैं.

एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि पार्टी के किसी नेता को राज्य सभा नहीं भेजा जाएगा और यह फैसला लिया जा चुका है. पार्टी नेता ने कहा, ‘विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाली मशहूर हस्तियों को उच्च सदन भेजा जाएगा. पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन से भी इस बाबत बातचीत चल रही है, लेकिन अभी तक इसे लेकर कोई अंतिम फैसला नहीं हुआ है.’ इसमें कोई शक नहीं है कि पार्टी के इस फैसले से कुछ वरिष्ठ नेताओं को मुश्किल जरूर होगी. पार्टी के कुछ नेता राज्य सभा सीट की उम्मीद लगाए हैं और किसी बाहरी को उच्च सदन भेजे जाने पर बवाल होना तय है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास की नाराजगी की खबरें इस साल के शुरुआत से ही आ रही हैं. इस साल के शुरुआत में ही निलंबित विधायक कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया था कि कुमार विश्वास को राज्य सभा जाने से रोकने के लिए पार्टी के कुछ लोग षड्यंत्र कर रहे हैं.सूत्रों का कहना है कि ओखला विधायन अमानतुल्ला खान के साथ विवाद के बाद कुमार विश्वास ने पार्टी नहीं छोड़ी.

पार्टी में रहते हुए भी विश्वास ने पार्टी के खिलाफ बयानबाजी की. विश्वास ने इशारों में ही पार्टी नेतृत्व के खिलाफ बयान दिए. पार्टी से जुड़े एक सूत्र का कहना है कि उनका यह व्यवहार पार्टी हाई कमान को पसंद नहीं आया. इस वक्त 70 विधानसभा वाली दिल्ली में 66 विधायक आम आदमी पार्टी के हैं. दिल्ली से राज्य सभा की 3 सीटें आप के खाते में हैं जिन पर जनवरी 2018 में चुनाव होना है.