उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस समारोह के तहत ‘रैबार’ का आयोजन

उत्तराखंड निर्माण के नौ नवंबर को 17 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे राज्य स्थापना दिवस समारोह के तहत मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रविवार को ‘रैबार’ कार्यक्रम का शुभारंभ किया. इस समारोह में प्रधानमंत्री के सचिव भास्कर खुल्बे और कोस्ट गार्ड के महानिदेशक राजेंद्र सिंह सहित कई हस्तियों ने शिरकत की.

कार्यक्रम के उदघाटन सत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘रैबार’ का मुख्य उद्देश्य है कि हम सब राज्य के सर्वागींण विकास के लिए एकजुट होकर सोचें और राज्य को तीव्र विकास की धारा से जोड़ें। उन्होंने कहा कि राज्य 18वें साल में प्रवेश कर रहा है और तरुण अवस्था से युवा अवस्था में प्रवेश कर रहे उत्तराखंड को किस तरह आगे बढ़ाना है, इस पर सब मिलकर विचार करें. त्रिवेंद्र रावत ने आशा व्यक्त की कि राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित पदों पर आसीन उत्तराखंड मूल के लोगों के साथ इस बारे में गहनता के साथ चर्चा होगी.

पिछले सात माह में राज्य सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सुशासन और भ्रष्टाचारमुक्त उत्तराखंड के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं और जन शिकायतों के त्वरित निस्तारण के लिए टोल फ्री नम्बर-1905 बनाया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासनिक सुधार के लिए सचिवालय से ब्लॉक स्तर तक बायोमेट्रिक हाजिरी प्रारम्भ की गई है, सेवा के अधिकार में 162 नई सेवाएं जोड़ी गई हैं. डी.बी.टी के माध्यम से कृषि उर्वरक सब्सिडी शुरू करने वाला उत्तराखंड देश का पांचवा राज्य बन गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि चिकित्सा सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए प्रत्येक जिला अस्पतालों में आईसीयू बनाए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत छह माह में परिवहन एवं ऊर्जा के क्षेत्र में लक्ष्य से अधिक राजस्व की प्राप्ति हुई है.

प्रधानमंत्री के सचिव खुल्बे ने राज्य के तीव्र विकास के लिए कौशल विकास पर विशेष बल देते हुए कहा कि क्षेत्रीय आवश्यकताओं की मैपिंग कर उसके अनुरूप योजना बनानी होगी.

पलायन आयोग के उपाध्यक्ष एस.एस. नेगी ने कहा कि उत्तराखंड पहला राज्य है जहां पलायन की समस्याओं के निदान के लिए एक आयोग का गठन किया गया है. नेगी ने बताया कि राज्य में 968 गांव खाली हो चुके हैं तथा 1000 गांवों में 100 से कम लोग रह गए है. अल्मोड़ा और पौड़ी में तेजी से पलायन हुआ है.

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि राज्य में उच्च शिक्षा के स्तर में तेजी से सुधार हो रहा है. इस अवसर पर कवि यशवंत सिंह रावत की पुस्तक ‘स्वर उन्हीं का’ का विमोचन भी किया गया.