अक्षरधाम हमले का मास्टरमाइंड 15 साल बाद गिरफ्तार

अहमदाबाद, गुजरात के गांधीनगर स्थित स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर में 15 साल पहले 25 सितम्बर 2002 को हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड अब्दुल रशीद अजमेरी को शनिवार को अहमदाबाद क्राइम ब्रांच द्वारा अहमदाबाद अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से धरा गया.

अहमदाबाद पुलिस की क्राइम ब्रांच ने राशिद को उस वक्त हिरासत में लिया जब वो रियाद से वापस लौट रहा था. इस मामले में गुजरात पुलिस ने कुछ 6 लोगों को गिरफ्तार किया था और उनपर हमले की साजिश और हमलावरों की मदद का आरोप लगाया गया था.

इन 6 लोगों में अजमेरी अब्दुल राशिद का भाई अजमेरी अदम भी शामिल था. इन 6 आरोपियों को मई 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने बरी कर दिया था.

साल 2002 में 24 सिंतबर को 2 आतंकियों ने हथियारों और ग्रेनेड के साथ गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर हमला किया था. धमाके और गोलीबारी में 30 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी जबकि 80 अन्य लोग घायल हुए थे.

हमले के एक दिन बाद ही एनएसजी के जवानों को ऑपरेशन के लिए उतारा गया जिसमें दोनों ही आतंकियों को ढेर किया गया था. हमले में शामिल आतंकी लश्कर और जैश जैसे संगठनों से थे.