कारोबार सुगमता रैंकिंग को लेकर स्मृति ईरानी और सिंघवी के बीच छिड़ी ट्विटर जंग

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी के बीच बुधवार को ट्विटर पर भिड़ंत हो गई. दोनों नेताओं के बीच सोशल मीडिया मंच पर वाकयुद्ध तब शुरू हुआ जब सिंघवी ने यह दावा किया कि कारोबार सुगमता रिपोर्ट रैंकिंग में भारत की 30 पायदान की छलांग ‘फिक्स’ थी.

सिंघवी ने ट्विट किया, ‘सलाहकारों को रखकर कारोबार सुगमता रिपोर्ट रैंकिंग को ‘फिक्स’ करना आसान है. मेसर्स मोदी एंड कंपनी द्वारा भारतीय अर्थव्यवस्था को किए गए वास्तविक नुकसान को ठीक करना मुश्किल है.’

जवाबी हमला करते हुए स्मृति ने ट्विट किया, ‘विश्व बैंक रैंकिंग पर कठोर टिप्पणी व्यक्ति को यह पूछने के लिए बाध्य करती है कि क्या 2004-2014 संप्रग सरकार की नीतिगत पंगुता भी फिक्स थी?’

स्मृति ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘खेदजनक है कि पांच दशकों तक भारत में शासन करने वाली पार्टी जानबूझकर विवाद खड़ा करना चाहती है और देश की भावनाओं से खेलना चाहती है.’

उन्होंने यह बात सिंघवी के उस ट्वीट का जवाब देते हुए कही जिसमें उन्होंने कहा था, ‘कारोबार सुगमता रैंकिंग अपने सर्वश्रेष्ठ में एक संकेतक कारक है. यदि आपकी बुनियाद कमजोर है तो किसी भी प्रकार का बाजारू तिकड़म वास्तविकताओं को छुपा नहीं सकता.’