शालीमार बाग हत्याकांड में हुआ ये हैरान कर देने वाला खुलासा

नई दिल्ली, शालीमार बाग में बुधवार तड़के कार सवार दंपति पर गोली चलाने और हादसे में पत्नी की मौत के मामले में पुलिस ने हैरान कर देने वाला खुलासा किया है. पुलिस ने दावा किया है कि कर्ज में डूबे बिजनसमैन पंकज मेहरा ने कर्ज देने वाले को फंसाने के लिए अपनी ही पत्नी की हत्या की. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है.

अपनी ही कहानी में फंस गया पंकज
पंकज की बनाई कहानी ने ही उसके फंसा दिया. पुलिस को पंकज की कहानी पर शुरू से शक हो गया था. पुलिस को इस बात पर शक था कि हमलावरों ने पंकज की बजाए उसकी पत्नी को क्यों निशाना क्यों बनाया? पुलिस ने जब वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो पुलिस का शक पुख्ता हो गया. पुलिस ने जब सख्ती से बिजनसमैन से पूछताछ की तो वह टूट गया और देर रात उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया.

गौरतलब है कि पंकज रोहिणी सेक्टर-15 का रहने वाला है. उसका पहाडग़ंज इलाके में उनका रेस्त्रां है. पंकज ने पुलिस को बताया था कि मंगलवार की रात वह प्रिया और बच्चों को लेकर रिट्ज कार से हडसन लेन स्थित अपने भाई के रेस्त्रां में गया था. देर होने पर वह पंकज उन्हें गुरुद्वारा बंगला साहिब ले गया. तड़के जब वह अपनी पत्नी और बच्चों के साथ घर लौट रहा था तो करीब सवा चार बजे रोहिणी रोड लाल बत्ती को पार करते ही एक स्विफ्ट कार ने उनको अचानक ओवरटेक किया. उसकी कार को रोककर पिस्टल की बट से शीशा तोड़ा.

कार सवार करीब तीन से चार बदमाशों में से एक ने पंकज को जबरन बाहर खींचने की कोशिश की. विरोध करने पर बदमाशों ने उनकी पिटाई की और गोली चला दी. पहली गोली किसी को नहीं लगी. दूसरी गोली प्रिया के गले पर लगी. जबकि तीसरी गोली उसके चेहरे पर लगी. वह वहीं पर अचेत हो गई. पंकज ने शोर मचाया.